Breaking News

बहन के चेहरे पर तेजाब फेंकने वाला उसकी मासी का बेटा निकला, जो बीएसएफ का कर्मचारी है

बहन के चेहरे पर तेजाब फेंकने वाला उसकी मासी का बेटा निकला, जो बीएसएफ का कर्मचारी है

चचेरी बहन के चेहरे पर तेजाब फेंकने वाला उसकी मासी का बेटा निकला, जो बीएसएफ का कर्मचारी है: चार दिन पहले लैब टेक्नीशियन के चेहरे पर तेजाब फेंकने की वारदात का मास्टमाइंड पीड़ित लड़की की मासी का बेटा ही निकला, जो बीएसएफ कर्मचारी है। 

पुलिस ने मासी के बेटे समेत तीन को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि एक की तलाश की जा रही है। कमिश्नर पुलिस गुरप्रीत सिंह भुल्लर, डीसीपी जांच गुरमीत सिंह, एडीसीपी सिटी सुडन विजी ने पत्रकारवार्ता में बताया कि पिछले दिनों पीएपी चौक पर एक युवती के चेहरे पर एसिड फेंका गया था, जिसे अस्पताल में दाखिल कराया गया था।

पुलिस ने मामले की जांच की तो सामने आया कि
इस वारदात को अंजाम पीड़ित लड़की के मासी के बेटे ऊना निवासी ने दिया था। लड़की की शादी की बात चल रही थी, जिससे आरोपी परेशान था। इस बारे में आरोपी ने ऊना निवासी ही एक रिश्तेदार से बात की, जो लुधियाना में एक फैक्टरी में काम करता था।

उस रिश्तेदार ने लुधियाना में ही दो अन्य लड़कों मनी निवासी गंजा जैन कालोनी मोतीनगर लुधियाना व प्रीत को 25 हजार रुपये में लड़की पर एसिड फेंकने के लिए हायर किया। इसमें पांच हजार रुपये एडवांस दिए, बाकी 20 हजार रुपये बाद में दिए जाने थे।


पीड़िता के मासी के बेटी और उसके रिश्तेदार ने 26 जनवरी को ही जालंधर आ गए। उन्होंने मनी व प्रीत को लड़की को और उसका घर दिखाया। तीन दिन तक रोजाना चारों लोग लुधियाना से बाइक पर जालंधर आते रहे और लड़की की रैकी करते रहे।

29 जनवरी को मनी व प्रीत ने लुधियाना से टायलेट क्लीनर खरीदा था और जालंधर में पीएपी चौक पर लड़की के चेहरे पर फेंक दिया। इसके बाद चारों लोग लुधियाना फरार हो गए और वहां से मुख्य आरोपी मासी का बेटा बाइक पर हिमाचल चला गया।

कमिश्नर भुल्लर के मुताबिक, मुख्य आरोपी बीएसएफ का कर्मचारी है और चोट लगने के कारण छुट्टी पर आया था। पीड़ित लड़की अब आरोपी से बात भी नहीं करती थी। उसने आरोपी का नंबर भी ब्लाक कर दिया था। जिससे आरोपी गुस्से में आ गया और मासी की बेटी को सबक सिखाने के लिए पूरा साजिश रची।

पुलिस ने मुख्य आरोपी और उसके रिश्तेदार को हिमाचल से गिरफ्तार कर लिया है, जबकि मनी को लुधियाना से शनिवार को गिरफ्तार कर लिया गया। प्रीत अभी फरार है, जिसकी तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है।

No comments