Breaking News

मासूम जुड़वाँ बच्चों ने कर दी हाँ फिर आरोपियों ने पानी में डुबो डुबो कर मार डाला

चित्रकूट में दो जुड़वां भाइयों के मर्डर केस की परतें खुलती जा रही हैं। पुलिस के अनुसार, इस वारदात का आइडिया देने वाला कोई और नहीं बच्चों को ट्यूशन पढ़ाने वाला टीचर ही है। उसी ने किडनैपरों से कहा था कि बच्चों के पिता के पास बहुत पैसा है। 
इसके बाद बजरंग दल के क्षेत्रीय संयोजक के आरोपी भाई ने इस वारदात की पूरी कहानी रची थी। बता दें कि 12 फरवरी को इन जुड़वां बच्चों का उन्हीं की स्कूल बस को गनप्वाइंट पर रुकवाकर दिनदहाड़े अपहरण कर लिया गया था। किडनैपर्स ने बच्चों के पिता से दो करोड़ की फिरौती मांगी थी। जिसके बाद पिता ने 20 लाख रुपए दे भी दिए थे, लेकिन अपराधियों ने बच्चों को पानी में डुबो-डुबोकर मौत के घाट उतार दिया। आइए जानते हैं पूरा मामला....

जंजीर से बांधकर पानी में फेंका था बच्चों को
- मर्डर के इस मामले में रीवा रेंज के आईजी चंचल शेखर ने बताया, बच्चों के पिता ब्रजेश रावत ने फिरौती की रकम अपहरणकर्ताओं को देने के लिए यूपी पुलिस से संपर्क किया था, मध्य प्रदेश पुलिस से नहीं। किडनैपर्स ने शुरू में 4 दिन तक बच्चों को जगह बदल-बदलकर रखा था।

- उन्होंने कहा कि 20 लाख फिरौती मिलने के बाद भी जुड़वां भाइयों की पानी में डुबोकर मर्डर कर दिया गया। बांदा जिले के मरका घाट में मंदिर के पास दोनों भाइयों को पहले जंजीर से बांधा, फिर एक और जंजीर से पत्थर बांधकर घाट के नीचे फेंक दिया गया।

No comments