Breaking News

हिमाचल: आवारा गौ माता को छोड़ते पकड़ा गया तो होगी अब कड़ी कार्रवाई


ऐसे लोगों से सख्ती से निपटने के लिए गौ सरंक्षण समिति का गठन किया है। समिति ने गौ सरंक्षण के साथ साथ समाजिक बुराइयों के खिलाफ भी आवाज बुलंद करने का निर्णय किया है। समिति ने बीते दिनों कोटरोपी पहाड़ में फंसी आठ गायों को भी सामूहिक चंदा एकत्र कर मैगल गौ सदन में छोड़ा।

जिसके लिए सोलह हजार रुपए की राशि सामूहिक सहयोग से इकठा की गई। वहीं शेष रही दस गायों को भी गौ सदन पहुंचाने के लिए धन राशि का प्रबंध किया जा रहा है।
शेष बची इन गायों को भराड़ू गौ सदन में छोड़ा जाएगा। मैगल गौ सदन संचालक एमएल पटियाल ने बताया कि आठ गायों को मैगल गौ सदन में सरंक्षण दिया है। उन्होंने कहा कि मैगल में डेढ़ सौ गायों को रखने की क्षमता है। 

अब गौ सदन में जगह न रहने से अन्य गायों को भराड़ू गौ सदन में पनाह दी जाएगी। जिसके लिए उरला गौ सरंक्षण समिति को धन राशि का प्रावधान करने के आदेश दिए गए हैं।  
गौ सरंक्षण समिति के नवनियुक्त अध्यक्ष मनसा राम यादव ने कहा कि समिति में सहयोग के लिए पंचायत के सभी महिला मंडलों सहित अन्य समाजसेवकों को जोड़ा जा रहा है।
उन्होंने कहा कि जो भी व्यक्ति बेसहारा जानवर छोड़ते पकड़ा गया तो कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। 

उन्होंने कहा कि उरला में छोड़ी गई अधिकांश गायों के कान में कोई पंजीकरण का टैग तक नही था। जिस कारण ऐसे व्यक्ति का पता नही चल पाया। अब समिति ऐसे लोगों के खिलाफ सख्ती से निपटेगी। बकायदा पुलिस कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

No comments