Breaking News

कांगड़ा: बेटे की हिमखंड में दबने की खबर से नहीं थम रहे मां के आंसू, घर में नहीं जला चूल्हा


किन्नौर में हिमखंड की चपेट में आए जयसिंहपुर के रिट गांव के नितिन राणा (27) के घर में शुक्रवार को सन्नाटा पसरा रहा। नितिन सेना में 7 जैक राइफल में तैनात हैं।

शुक्रवार को उनके घर में परिजन बेटे की सलामती की दुआ मांगते रहे। परिजनों को जब से हादसे की खबर मिली है, तब से घर में चूल्हा नहीं जला है। परिजन भूखे प्यासे नितिन की सलामती की दुआ मांग रहे हैं। लोग भी परिजनों को ढांढस बंधा रहे हैं।

सभी रिश्तेदार नितिन के पहुंच चुके हैं। हर कोई भगवान से प्रार्थना कर रहा है। घर के बरामदे में चारपाई पर बैठीं नितिन की मां लता देवी को भगवान पर भरोसा है। वे कह रही थीं कि उनका बेटा सही सलामत घर वापस आएगा। किन्नौर में हिमखंड गिरने की खबर सुनने के बाद से मां का रो-रो कर बुरा हाल है।

लता यही कह रही थीं कि उन्होंने गरीबी में मेहनत कर अपने बच्चों को पढ़ाया है। नितिन के चाचा अजमेर ने बताया कि बुधवार 11 बजे नितिन की उनकी बेटी सोनिया के साथ बात हुई थी। मंगलवार को नितिन की मां से बात हुई थी। बुधवार रात को नितिन के दोस्त ने इनके पिता को फोन कर हिमखंड की चपेट में आने की सूचना दी।

नितिन की 84 वर्षीय दादी सरस्वती यही दुआ कर रही थीं कि उनका पोता सही सलामत घर आए। नितिन के पिता को भरोसा है कि उनका बेटा सही सलामत आएगा। चाचा अजमेर ने कहा कि वह सेना के मेजर के साथ लगातार संपर्क में हैं। रिट गांव के लोग भी भगवान से नितिन की सलामती की दुआएं मांग रहे हैं। नितिन का छोटा भाई निखिल भी कश्मीर से शुक्रवार सुबह घर पहुंच गया है।

No comments