Breaking News

HRTC कंडक्टर का कारनामा फ्लाइंग देखकर बम की अफवाह फैला भगा दी सवारियां

HRTC कंडक्टर का कारनामा फ्लाइंग देखकर बम की अफवाह फैला भगा दी सवारियां

हमेशा घाटे का रोना रोने वाले हिमाचल पथ परिवहन निगम को प्रोफिट में लाने के लिए सरकार चाहे जितने प्रयास कर ले, लेकिन कुछ टांकेबाज कंडक्टर कभी इन प्रयासों को सार्थक नहीं होने देंगे। कुछ ऐसा ही वाकया देखने को मिला एचआरटीसी के हमीरपुर स्थित डिपो में। यहां टीएमपीए के तहत कार्यरत एक कंडक्टर ने तो बस में सवार आधी सवारियों पर ही टांका लगा दिया। जब उसने बस की चैकिंग करने आ रहे उड़नदस्ते को देखा तो यात्रियों को यह कहकर भगा दिया कि किसी ने बस में बम रखा हुआ है। 

जानकारी के अनुसार एचआरटीसी पठानकोट के उड़नदस्ते में शामिल मुख्य निरीक्षक दलीप कुमार, उपनिरीक्षक जसवंत सिंह व धर्मेंद्र कुमार, बसों की औचक चैंकिग के सिलसिले में सुजानपुर पहुंचे थे। उन्होंने सोमवार सायं करीब साढ़े छह बजे हमीरपुर से सुजानपुर आई एक बस को चैक करना था। बस में मौजूद कंडक्टर ने दूर से उड़नदस्ते को देख लिया और बस रुकवाकर अफवाह फैला दी कि बस में बम है। ऐसा सुनकर सभी यात्री बस से उतरकर यहां-वहां भागने लगे। 

इतने में फ्लाइंग स्कवायड के लोग भी पहुंच गए, लेकिन तब तक बस में केवल सात सवारियां ही थीं, जबकि उड़नदस्ते के लोगों ने सवारियों को भागते देख लिया था। उन्होंने जब मशीन की स्टेटस रिपोर्ट चैक की तो उसमें केवल 18 लोगों के टिकट बने थे। बताया जा रहा है कि बस में 40 से 45 यात्री सवार थे। इस दौरान जब कैश बैग को चैक किया गया तो 2045 रुपए अधिक पाए गए। 

ऐसे में उड़नदस्ते को संदेह हो गया कि जो यात्री भगाए गए हैं, वे बिना टिकट के थे और लंबे सफर से आ रहे थे। जब कंडक्टर की मशीन में कैश चैक किया गया तो उसने चार ट्रिप में 2565 रुपए की टिकटें काटी थीं, लेकिन उसके बैग से 4610 रुपए बरामद हुए। यानी 2045 रुपए अधिक थे। ऐसे में जाहिर है कि कंडक्टर ने मोटा टांका लगाया हुआ था।

एक साल से चल रहा था एक ही रूट पर: बताया जा रहा है कि टीएमपीए के तहत हिमाचल पथ परिवहन में रखा गया यह कंडक्टर एक साल से एक ही रूट पर चल रहा है। ऐसे में जाहिर है कि उसे इस रूट के बारे में और यहां रुटीन सफर करने वाले यात्रियों की पूरी जानकारी थी। अब टांके का यह खेल कब से चल रहा था, यह तो जांच के बाद ही पता चल पाएगा।

No comments