Breaking News

कांगड़ा: चंबी में नाबालिग के शव को फेंकने वाले ने थाने में किया सरेंडर


कांगड़ा जिला के शाहपुर से सटे चंबी के रेन शेल्टर के बाहर मिले नाबालिग के शव के मामले में बैजनाथ निवासी युवक ने मंगलवार को पुलिस थाने में सरेंडर कर दिया है। नरेश कुमार नाम के इस शख्स ने बैजनाथ थाने में आत्मसमर्पण  किया। जांच से पता चला था कि नाबालिग की मौत 22 मार्च को कुल्लू अस्पताल में हो गई थी।

नरेश कुमार नाबालिग के शव को अपनी टैक्सी में लेकर आया और उसे चंबी में रेन शेल्टर के बाहर फेंक गया। नरेश इसके बाद से फरार चल रहा था। पुलिस ने टैक्सी को भी कब्जे में ले लिया है और नरेश के पिता और रिश्तेदारों से पूछताछ की जा रही थी। कांगड़ा पुलिस की टीम कुल्लू अस्पताल में जांच के लिए रवाना हो गई है। नाबालिग की लाश 23 मार्च को सुबह चंबी स्थित रेन शेल्टर के बाहर कंबल में लिपटी मिली थी।

नाबालिग घर से फरार होने के बाद नरेश कुमार के साथ ही रह रही थी। नरेश कुमार नाबालिग को लेकर पतलीकूहल में रिश्तेदार के घर रह रहा था। रिश्तेदारों को उसने बताया था कि वह उसकी पत्नी है। लड़की कुछ समय से बीमार थी और उसे कुल्लू अस्पताल में भर्ती करवाया गया था, जहां उसकी मौत हो गई। इस संबंध में पुष्टि मुख्य चिकित्सा अधिकारी कुल्लू ने भी की है और अस्पताल का रिकॉर्ड भी खंगाला जा रहा है।

अभी तक इस बात का पता नहीं चल पाया है कि नवंबर से मार्च तक वे दोनों कहां रह रहे थे क्योंकि दोनों 18 या 19 मार्च को ही कुल्लू पहुंचे थे। उधर, पुलिस उप महानिरीक्षक कांगड़ा संतोष पटियाल ने बताया कि नालाबिग को भगाने और उसके शव को चंबी में फेंकने वाले नरेश कुमार ने सरेंडर कर दिया है। ऊना पुलिस की टीम भी बैजनाथ पहुंची है।

No comments