Breaking News

खाँसी और दमा के इलाज में फायदेमंद है फिटकरी का सेवन


फिटकरी एक एंटी बैक्टीरियल औषधि है जिसका इस्तेमाल लंबे समय से चोट लगने, जलने -कटने आदि में किया जाता रहा है। आयुर्वेद में फिटकरी के कई लाभ बताए गए हैं। ऐसा माना जाता है कि फिटकरी से 25 तरह की समस्याएं दूर की जा सकती हैं। आफ्टर शेव या फिर पानी साफ करने के लिए फिटकरी हर घर में प्रयोग में लाई जाती है। 

फिटकरी के फायदे: 

# चोट लगने पर, पसीने की बदबू दूर करने में, दांतों की समस्याओं के लिए, त्वचा पर कटट जाने आदि कई समस्याओं में फिटकारी के चमत्कारी लाभ मिलते हैं। 

# वही फिटकरी रक्त का थक्का बनाने में भी काफी लाभकारी है। अगर आपको कभी चोट लग जाती है और उससे लगातार खून आ रहा है तो आप तुरंत फिटकरी के पानी से घाव को धो लें। 

# फिटकरी में एंटी-बैक्टीरियल प्रॉपर्टी होती है इसलिए इसका उपयोग सिर के जुओं को मारने में भी किया जा सकता है। अगर आपके सिर में जुएं हैं तो आप नियमित रूप से फिटकरी के पानी से स्नान किजिए। 

खांसी, दमा और बलगम में भी फिटकरी का उपयोग काफी लाभकारी है। फिटकरी का महीन चूर्ण बनाकर उसे शहद के साथ मिलाकर चाटने से दमा के साथ साथ खांसी में भी काफी लाभ मिलता है।

No comments