Breaking News

सेना का इलेक्‍ट्रीशियन निकला ISI जासूस, पुलवामा हमले के बाद पाक को भेजी खुफिया जानकारी


मिलिट्री इंजीनियरिंग सर्विसेज के एक इलेक्ट्रीशियन को पाकिस्‍तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ के लिए जासूसी करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। इससे यहां सनसनी फैल गई। रामकुमार नामक इस व्‍यक्ति को भारतीय खुफिया एजेंसी ने गिरफ्तार किया है।

 उसने पुलवामा में आतंकी हमले के बाद आइएसआइ को सेना की खुफिया जानकारी और गतिविधियों के बारे में जानकारी दे रहा था। उधर, रामकुमार के पिता ने कहा कि बेटे की करतूत से परिवार शर्मसार है। रामकुमार गरीब परिवार से ताल्‍लुक रखता है। स्टेट स्पेशल ऑपरेशन सेल ने आरोपित के कब्जे से दो मोबाइल, चार सिम कार्ड, लैपटॉप और अन्य दस्तावेज बरामद कर मामला दर्ज कर लिया है।

फिलहाल एसएसओसी आरोपित के बैंक अकाउंट और सोशल मीडिया पर बने अकाउंट्स खंगाल रहा है। बताया जाता है कि आरोपित ने पुलवामा हमले के बाद सेना की कई अहम जानकारियां आइएसआइ को दी है।

 जांच में खुलासा हुआ है कि वह पिछले छह महीने से एक्टिव था और आइएसआइ से जुड़ा हुआ था। उसने व्हाट्सएप के जरिए आइएसआइ के आका को भारतीय सेना के कुछ बड़े अफसरों के मोबाइल नंबर भेजे थे। पता चला है राम कुमार ने फेसबुक और व्हाट्सएप पर भेजे गए संदेश उसी समय डिलीट कर देता था। एसएसओसी के अधिकारी पंजाब पुलिस की साइबर शाखा से भी जांच में सहयोग ले रहे हैं।

एसएसओसी के इंस्पेक्टर हरविंदर सिंह ने बताया कि सूचना मिली थी कि मूल रूप से फाजिल्का और वर्तमान में जालंधर के नलवा रोड स्थित दशहरा ग्राउंड के पास रहने वाला राम कुमार सेना की गुप्त जानकारियां पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आइएसआइ को बेच रहा है।

आरोपित राम कुमार जालंधर कैंट स्थित मिलिट्री इंजीनियरिंग सर्विसेज (एमइएस) में 2013 से बतौर इलेक्ट्रीशियन काम कर रहा है। इसके चलते उसे सेना की कई गुप्त जानकारियां और सेना के कई बड़े अधिकारियों के नंबर भी पता हैं।

No comments