Breaking News

हिमाचल का ये गांव बन रहा नया टूरिस्ट प्लेस ,दिल्ली से मात्र 3 हजार में घूमकर आ सकते हैं


गर्मियां आने वाली हैं। ऐसे में उत्तर भारत में गर्म हवाएं और लू से बचने के लिए लोग पहाड़ों तरफ छुट्टियां मनाने जाते हैं। बच्चों की स्कूल की छुट्टियां पड़ जाती है। ऐसे में हिमाचल प्रदेश घूमना एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है। लेकिन हिमाचल का नाम आते ही सबसे पहले पहले शिमला और मनाली याद आते हैं, जो अब काफी पुराने टूरिस्ट प्लेस हो चुके हैं।

देशभर से आने वाले टूरिस्ट की वजह से यहां की सड़कों पर भारी ट्रैफिक रहता है और होटल टूरिस्ट से भरे रहते हैं। साथ ही बढ़ती आबादी की वजह से यहां बेतहाशा निर्माण कार्य हुआ है। इससे यहां की रंगत कम हुई है। ऐसे में हिमाचल का छोटा सा गांव तोष नया टूरिस्ट प्लेस बन रहा है। पार्वती वैली में स्थित ये गांव शोर-शराबे से बिल्कुल दूर है। साथ ही झरनों और हरे-भरे पहाड़ों की वजह से यहां की सुंदरता देखते ही बनती है। तोष के आसपास घूमने के कई अन्य टूरिस्ट प्लेस भी हैं। ऐसे में यहां घूमने का प्लान बना सकते हैं।

कैसे जाएं- दिल्ली से तोष जाने के लिए सबसे अच्छा साधन बस होती है। इसे कश्मीरी गेट बस अड्‌डे से ले सकते हैं। यहां हिमाचल प्रदेश की रोडवेज और प्राइवेट दोनों तरह की बसें मौजूद रहती है। कश्मीरी गेट से सीधे हिमाचल के भुंतर के लिए बस मिलती है। इसके बाद भुंतर से तोष के लिए किराए पर अपनी टैक्सी ली जा सकती है या फिर रोडवेज बस का इस्तेमाल कर सकते हैं, जो वार्षेणी तक जाती है, जहां से तोष के लिए पैदल रास्ता है। इसके अलावा दिल्ली से चंढ़ीगढ़ तक प्लेन और फिर वहां से बस या फिर टैक्सी से भी जाया जा सकता है।

खर्च- अगर हिमालच रोड़वेज की ऑर्डिनरी बस से जाते है, तो तोष आने-जाने में मात्र तीन हजार रुपए खर्च करने पड़ेंगे। दिल्ली से भुंतर तक रोडवेज का किराया 680 रुपए है। वहां से हिमाचल रोडवेस की बस से वार्षेणी तक 50 से 60 रुपए लगते हैं, जबकि वार्षेणी से तोष के लिए पैदल रास्ता है। ऐसे में तोष आना-जाना 1500 से 1600 में हो जाएगा। अगर एक दो दिन होटल और एक दिन कैंप में रुकते हैं, तो करीब 1500 रुपए के करीब खर्च आता है। वहीं 1000 रुपए अन्य खर्च आ सकता है।

No comments