Breaking News

लड़की का पिता बोला-शगुन में दूंगा बस एक नारियल, लड़के ने मांगी ऐसी चीज कि भर आईं आंखें !


शादियों में महंगे तोहफे और दहेज देने व लेने का प्रचलन आधुनिक समाज में भी जारी है। आज कल कुछ ऐसे किस्‍से भी सामने आ रहे हैं जहां बिना दहेज के शादी की जाती है। मगर हिसार जिले के छोटे से गांव खरकड़ी में एक अनोखी शादी होने का मामला सामने आया है। शादी ऐसी की जो लोगों के सामने मिसाल बन गई। दूल्हे पक्ष ने दहेज जैसी कुप्रथा पर तमाचा जड़ा है।

यहां लड़की और लड़के दोनों ही दहेज लेने देने के पक्ष में नहीं थे। जब खरकड़ी निवासी लड़की का पिता राजाराम लड़के को देखने गया तो लड़के को कहा कि मैं दहेज नहीं दूंगा। बस एक नारियल शगुन के तौर पर दे सकता हूं। तब लड़के ने कहा मुझे नारियल भी नहीं चाहिए कुछ देना चाहते हैं तो फल फूलों वाले पौधें देना वही सब से अच्छा गिफ़्ट होगा। यह सुनकर लड़की की पिता की आंखे भर आईं और कहा कि मुझे तुम पर गर्व है।

बस इसी दौरान डोभी निवासी जयसिंह के पुत्र सुरेंद्र कुमार और खरकड़ी निवासी राजाराम मतवा की पुत्री मनीष की दहेज कुप्रथा को खत्म करने की सोच मिल गई। इसके बाद विवाह समारोह में आए लोगों ने नवयुगल को विदाई में पौधे भेंट करते हुए हरियाली के लिए इनकी सुरक्षा का भी संकल्प लिया।

No comments