Breaking News

हिमाचल के बेटे हंसराज रघुवंशी को मिली बॅालीवुड में एंट्री


हिमाचल के बेटे हंसराज रघुवंशी को मिली बॅालीवुड में एंट्री: महाशिवरात्री के समय एक नया गाना आया था ‘डमरू वाला‘ यह गाना लोगों को बहुत पसंद आय था. मॉडर्न धुनों पर महादेव के लिए लिखा गया यह गाना अत्यंत मंत्रमुग्ध करने वाला है. जाहिर सी बाात है अब लोग जानना चाहते होंगे की किस शख्स ने ये गाना गाया है कहा का है, तो चलिए आज हम आपको बताते हैं किसने ये गाना गाया है. यह सिंगर और कोई हिमाचल जिले का बिलासपुर का रहने वाला है. इसका नाम हंसराज रघुवंशी है. दोस्त इन्हें प्यार से बावा कहते हैं.

हंसराज का जन्म 18 जुलाई को हिमाचल प्रदेश के जिला बिलासपुर में हुआ था. उनके पिताजी का नाम प्रेम रघुवंशी और माताजी का नाम लीला रघुवंशी है. हंसराज रघुवंशी का एक भाई और एक बहन है. भाई का नाम मंजीत रघुवंशी और बहन का नाम शीला रघुवंशी है. बचपन से ही उन्हें गायकी का शौक था और, वह अपने स्कूल जीएसएसएस मगंल में हर उस प्रतियोगिता में भाग लेते थे. जहां उन्हें अपनी आवाज सुनाने का मौका मिलता था. बचपन से उन्हें गाने बजाने में बेहद रुचि थी. इसी स्कूल से बारहवीं कक्षा पास कर उच्च शिक्षा के लिए वह महाराजा लक्ष्मण सेन मेमोरियल (एमएलएसएम) कॉलेज, सुंदर नगर, चले गए.

बॅालीवुड में मिला काम: हर किसी कलाकार का सपना होता है बॅालीवुड में काम करने का, लेकिन सपने उन्हीं के सच होते हैं जो जी जान लगा कर मेहनत करते हैं. ऐसा ही कुछ कर दिखाया हिमाचल के साधारण से परिवार के बेटे हंसराज रघुवंशी को ने बालीवुड में एंट्री लेकर.साभार : ऑफिसियल फेसबुक हंसराज रघुवंशी

हंसराज ने सनी दियोल के बड़े बेटे करण दियोल की फिल्म के लिए टाइटल सांग प्लेबैक किया है. हिमाचल सहित पड़ोसी राज्यों के युवा इस गबरू की आवाज के कायल हैं. 26 साल के इस युवा की लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगा सकते हैं कि दो दिन पहले ही रिलीज हुए. उनके गाने डमरू को 3.80 लाख से ज्यादा बार देखा जा चुका है. छोटी सी उम्र में ही कामयाबी के झंडे गाड़ रहे रघुवंशी ने कॅालेज के दिनों में पढ़ाई के साथ कैंटीन में पैसे कमाने के लिए काम किया, ताकि वह गाना रिकार्ड कर सकें. हंसराज रघुवंशी बिलासपुर जिला में कोल डैम के रहने वाले हैं, लेकिन अब परिवार सोलन जिला के मांगल शिफ्ट हो चुका है. 

हंसराज को संगीत विरासत में मिला है. उनके पिता प्रेम लाल पेशे से मिस्त्री हैं, लेकिन कुदरत ने गायकी का तोहफ से उन्हें भी नवाजा है. पिता को ही बचपन से गाता हुआ देखकर हंसराज भी गुनगुनाने लगे. हंसराज गायकी के साथ ही अपने गाने खुद ही लिखते और कंपोज करते हैं. उन्होंने बताया कि उन्होंने फिल्म के लिए मनाली में ऑडिशिन दिया था, जहां उनका सिलेक्शन हुआ. सनी दयोल के बेटे करण दियोल की यह ‘पर्दापण’ फिल्म है. मूवी की रिलीज डेट 19 जुलाई रखी गई है. इस महीने फिल्म के गाने रिलीज होंगे.

दुनिया में अपना नाम कमाने की ठान ली: कॉलेज तक पहुंचते-पहुंचते उन्होंने संगीत की दुनिया में अपना नाम कमाने की ठान ली थी. कॉलेज में ही उन्होंने संगीत को लेकर रियाज करना शुरू किया एवं इस फील्ड में खुद को कामयाब करने के लिए वह संगीत सीखने लगे. शुरुआती दिनों में कॉलेज के साथ-साथ उन्होंने एक छोटे से होटल में वेटर का कार्य भी शुरू किया. पार्ट टाइम जॉब करने से वह अपना निजी खर्च का प्रबंन्ध कर लेते थे. यह वो दौर था जब हंसराज आर्थिक रूप से उतने समृद्ध नहीं थे मगर अपने सपनों को लेकर वह शुरू से ही दृढ थे. यही वजह है कि आज अपनी वह अपनी मेहनत और लगन के चलते हर तरफ़ धूम मचा रहे हैं.

No comments