Breaking News

हादसे को बीते 7 दिन, Landslide में दबी मशीन व ऑप्रेटर का नहीं मिला सुराग


चम्बा-मंगला मार्ग में रविवार की रात को एक बार फिर तांन्त्रिक विधि से मलबे में दबी मशीन व उसके ऑप्रेटर को तलाशने का प्रयास किया गया लेकिन एक बार फिर से प्रभावित परिवार का यह प्रयास उम्मीद पर खरा नहीं उतर पाया। परिणामस्वरूप सातवें दिन यानी सोमवार को भी पूरा दिन घटना स्थल पर मशीन व उसके ऑप्रेटर को तलाशने का अभियान चलता रहा लेकिन कोई सफलता हाथ नहीं लगी।
प्रभावित परिवार ने पी.डब्ल्यू.डी. के हाथ सौंपा सर्च ऑप्रेशन

अब तो लापता मशीन के परिवार ने भी सोमवार को इस सर्च ऑप्रेशन को लोक निर्माण विभाग के निर्देश के अनुरूप अंजाम देने में ही बेहतरी समझी। इससे पहले वे अपनी मर्जी से इस सर्च ऑप्रेशन को अंजाम देने में दिन-रात जुटे रहे लेकिन सभी प्रकार के प्रयास करने के बाद भी सफलता न मिलने के चलते अब उनकी हिम्मत भी टूटती हुई नजर आने लगी है। अफसोस की बात है कि उक्त मार्ग पर गिरा मलबा पूरी तरह से हटा दिया गया है लेकिन मशीन व ऑप्रेटर का अभी तक कोई सुराग तक नहीं मिला है।

घटनास्थल से हटाई जाएगी बची हुई मिट्टी: सोमवार को यह निर्णय लिया गया कि बची हुई सारी मिट्टी को एक-एक करके हटाया जाए ताकि किसी प्रकार की मन में कोई शंका न रह जाए। सोमवार को भी भारी संख्या में मशीनें जहां मिट्टी खोदने में जुटी रहीं तो वहीं टिप्परों के माध्यम से घटना स्थल पर मौजूद मिट्टी को नई जगह डंप करने की प्रक्रिया को शुरू किया गया है।

पोकलेन मशीन का भी नहीं चला पता: मशीन सहित ऑप्रेटर को मिट्टी के भीतर से खोजने का अभियान दिन-रात चला हुआ है लेकिन हर कोई हैरान है कि इतनी बड़ी पोकलेन मशीन तक का अभी तक पता नहीं चल पाया है। अब तो एन.डी.आर.एफ. टीम के भी हाथ खड़े होते हुए प्रतीत होते हैं क्योंकि वह भी अपने स्तर पर अपनी तकनीक के माध्यम से मशीन व ऑप्रेटर का पता लगाने के सभी प्रयास कर चुकी है लेकिन उसका भी अभी तक लाभ होता हुआ नजर नहीं आया है।

No comments