Breaking News

शर्मनाक रिकॉर्ड बना गए रॉबिन उथप्पा


मुंबई से रविवार रात हारते ही IPL 2019 में कोलकाता का सफर खत्म हुआ। इसके साथ ही प्लेऑफ की वह गुत्थी भी सुलझ गई जिसका दुनियाभर के क्रिकेट फैंस को बेसब्री से इंतजार था। इस अहम मुकाबले में कोलकाता को प्लेऑफ में जगह बनाने के लिए मुंबई को हराना जरूरी था। मगर शर्मनाक प्रदर्शन से कोई टीम विजेता नहीं बनती। लिहाजा कोलकाता के हारते ही बेहतर रनरेट के आधार पर हैदराबाद प्लेऑफ में गई।

इस 'करो या मरो' के मुकाबले में रोहित शर्मा ने टॉस जीतकर कोलकाता को बल्ला थमाया। टीम महज 133 रन ही बना पाई। स्टार खिलाड़ी आंद्रे रसेल 0 पर आउट हो गए और फिर रही सही कसर बल्लेबाज रॉबिन उथप्पा ने पूरी कर दी। कहने को तो उथप्पा कोलकाता की ओर से सर्वाधिक 40 रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे, लेकिन इस बात में भी उतनी ही सच्चाई है कि इस हार के जिम्मेदार वही थे।

जिस स्ट्राइक रेट (85.10) से उथप्पा खेले उसकी काफी आलोचना हो रही है। दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने अपनी पारी में 47 गेंदों का सामना किया। इसमें उन्होंने 40 रन बनाए, जिसमें 3 छक्के और एक चौका शामिल था, लेकिन उन्होंने 26 डॉट गेंदें भी खेलीं। टी-20 फॉर्मेट में इतनी गेंद डॉट खेलना किसी अपराध से कम नहीं।

उथप्पा न सिर्फ कोलकाता की हार में मैच के मुजरिम कहलाए बल्कि अपने नाम एक अनचाहा रिकॉर्ड भी दर्ज करा बैठे। 26 डॉट गेंदें खेलने के बाद वह इस लिस्ट में दूसरे पायदान पर पहुंच गए हैं उनसे आगे पंजाब के लिए खेल चुके पॉल वलथाटी हैं। जिन्होंने 2011 में दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ 29 डॉट गेंदें खेली थीं। हालांकि 50 गेंदों की अपनी पारी में उन्होंने 62 रन बनाए थे।

कोलकाता की हार की सबसे बड़ी वजह बीच के ओवर्स में बेहद धीमी बल्लेबाजी रही। 11वें ओवर में मिचेल मैक्लेनेघन के ओवर में उथप्पा एक भी रन नहीं बना पाए और ओवर मेडन रहा। गेंद उनके बल्ले पर आ ही नहीं रही थी। इसका दबाव सीधे-सीधे दूसरे बल्लेबाजों पर नजर आया। रनगति बढ़ाने के चक्कर में पहले कार्तिक और फिर रसेल भी चलते बने।

बोर्ड पर बड़ा स्कोर नहीं था, जिससे गेंदबाजों का मनोबल भी गिर गया। कोलकाता की पूरी पारी में 60 गेंद यानी पूरे 10 ओवर्स ऐसे थे जिसमें कोई रन नहीं आया। इसमें से 26 गेंद अकेले रॉबिन उथप्पा ने ही डॉट खेलीं। इससे पहले बैंगलोर के खिलाफ भी इस सीजन में उन्होंने 20 गेंदों पर 9 रन बनाए थे और कोलकाता 11 रन से मैच हार गया था।

No comments