Breaking News

सूर्यदेव के इन खास मंत्रों का प्रयोग करने से सफलता, मानसिक शांति व शक्ति का संचार होता है


आपको बता दें, कि हिंदूधर्म में सूर्यदेव को बहुत ही शक्तिशाली देवता माना जाता हैं वही भगवान सूर्यदेव क मात्र ऐसे देवता हैं जो साक्षात दिखाइ पड़ते हैं इनकी विधि विधान से पूजा अर्चना से व्यक्ति को सफलता, मानसिक शांति और शक्ति का संचार होता हैं वही सूर्यदेव की पूजा में गायत्री मंत्र के अतिरिक्त निम्म मंत्रों का प्रयोग किया जा सकता हैं यह शुभ माना जाता हैं।

वही भारतवर्ष में सभी धर्मों के लोग अपने अपने धर्म के मुताकिब कोई न कोई प्रार्थना अथवा मंत्र का जाप अवश्य करते हैं वही हिंदू धर्म में मंत्र जाप की कोई गिनती ही नहीं होती हैं वही मंत्र जाप की कड़ी में आज हम आपको सूर्य देव की पूजा से संबंधित कुछ खास मंत्रों के बारे में बताने जा रहे हैं तो आइए जानते हैं।


वही सूर्य के किसी भी मंत्र का जाप व्यक्ति अपनी सुविधानुसार कर सकता हैं वही सूर्य देश यश का कारक होता हैं मान सम्मान में वृद्धि कराता हैं अगर कुंडली में सूर्य शुभ होकर कमजोर हैं तब इसके किसी भी एक मंत्र का जाप करना चाहिए। वही मंत्र जाप की संख्या 7,000 होनी चाहिए। वही शुक्ल पक्ष के रविवार से मंत्र जाप आरंभ करने चाहिए। वही सुविधानुसार मनुष्य अपने इन जापों को निर्धारित समय में पूरा कर सकता हैं।


ऊँ आकृष्णेन रजसा वर्तमानो निवेशयन्नमृतं मर्त्यण्च ।

हिरण्य़येन सविता रथेन देवो याति भुवनानि पश्यन ।।


ऊँ घृणि: सूर्यादित्योमऊँ घृणि: सूर्य आदित्य श्री

ऊँ ह्रां ह्रीं ह्रौं स: सूर्याय: नम:

ऊँ ह्रीं ह्रीं सूर्याय नम:

No comments