Breaking News

OMG: स्कूल तक पहुंची जंगल की आग, ऐसे बचाई बच्चों की जान

aag

हिमाचल के जंगलों में आग का तांडव थमने का नाम नहीं ले रहा है। चढ़ते तापमान के बीच प्रदेश के जंगलों में आए दिन आग लगने की घटनाएं सामने आ रही हैं। करोड़ों की वन संपदा जलकर राख होने के साथ जीव-जंतु भी आग की भेंट चढ़ गए हैं। अब तो हालात ऐसे हो गए हैं कि जंगलों की आग ने रिहायशी इलाकों का रुख कर लिया है। बिलासपुर जिले में भी ऐसी ही घटना सामने आई है। जिले की गोचर बीट के ढोलीखाला जंगलों में लगी आग की चपेट में आने से सीनियर सेकेंडरी स्कूल घंडीर बाल-बाल बच गया।

आनन-फानन में बच्चों को सुरक्षित स्थान तक लाया गया। यह घटना शुक्रवार सुबह करीब 11 बजे हुई। फायर ब्रिगेड कर्मियों और लोगों ने कड़ी मशक्कत के बाद स्कूल को आग की चपेट में आने से बचाया।

स्थानीय रेस्टहाउस की सड़क की तरफ से सुबह 11 बजे आग की लपटों ने घंडीर स्कूल को चारों ओर से घेर लिया। बल्ह्सीणा बाजार को भी चपेट में ले लिया। आग इतनी भयंकर थी कि इसकी लपटें स्कूल के कमरों तक पहुंच रही थीं।

बच्चों को कमरों से ऐसे निकाला
जंगल की  आग

प्रधानाचार्य डीआर भोगल, अध्यापकों और एसएमसी प्रधान जोगिंद्र सिंह ने सूझबूझ दिखाई और बच्चों को कमरों से निकाला। जोगिंद्र सिंह ने एसडीएम झंडूता को घटना की सूचना दी। एसडीएम ने तुरंत फायर ब्रिगेड घुमारवीं को मौके पर भेजा।

फायर बिग्रेड कर्मियों ने मौके पर पहुंचकर आग पर काबू पाया। आग पर समय रहते काबू नहीं पाया जाता तो तो कानूनगो वृत्त, आयुर्वेदिक डिस्पेंसरी और दो तीन घर भी इसकी चपेट में आ जाते। स्थानीय बाजार की तरफ बीओ ज्ञान चंद ने दुकानदारों की सहायता से आग पर काबू पाया।

बीओ ज्ञान चंद ने कहा कि जंगल में आग लगाने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। जो भी जंगल में घास के लिए घेराबंदी करेगा, विभाग उसके खिलाफ भी कार्रवाई करेगा। जंगल में आग लगाने वालों की सूचना देने वालों का नाम गुप्त रखा जाएगा और पुरस्कार भी दिया जाएगा। 

No comments