Breaking News

WOW: मणिमहेश के धंछो में आज से 6 सितंबर तक चलेगा देशी घी से बने पकवानों का भंडारा


मंडी़ श्री कैलाश मणि महेश सेवा समिति सुंदरनगर पिछले आठ वर्षों से लगातार मणिमहेश में धंछो नामक स्थान पर विशाल नि:शुल्क देसी घी का भंडारा व रहने की व्यवस्था करती आ रही है। इस यात्रा में देश विदेश से लाखों शिव भक्त श्रद्वा पूर्वक भगवान भोले के मणिमहेश में मणि के रूप में दर्शन हेतु आते है ।
इसी उत्साह को देखते हुए श्री कैलाश मणी महेश सेवा समिति (रजि.) सुंदरनगर इस वर्ष आठवां विशाल नि:शुल्क देसी घी का भंडारा व रहने की व्यवस्था आज 22 अगस्त से 6 सिंतबर तक धंछो स्थान पर कर रही है। समिति के अध्यक्ष आर पी शर्मा ने बताया कि यह मणि महेश की 13 किमी की पैदल यात्रा में शुरू के 5.25 किमी पैदल चलने के बाद आता है।

इस बार समिति ने भंडारे के दौरान धन्छो में तीसरी बार महाशिव पुराण कथा का आयोजन करने जा रहा है। इस कथा को सुप्रसिद्व कथावाचक पंकज शर्मा(मंडी वाले ) के मुखारविंद से 27 अगस्त से 6 सिंतबर तक सुनी जाएगी। उन्होंने कहा कि कैलाश पर्वत पर बैठ कर शिवजी की इस कथा सुनने का सौभाग्य विरलों को ही मिल पाया है।इस के अलावा समिति द्वारा सवा लाख महामृत्युन्ज्य मंत्र का जाप तथा सवा लाख माता गौरी का जाप किया जाएगा । ये जाप 27 अगस्त से 6 सिंतबर तक लगातार चलेंगे ।
15 क्विंटल देशी घी से बनेगा पकवानों का भंडारा

समिति के भंडारे में देशी घी के स्वादिष्ट व पौस्टिक व्यंजन शिव भक्तों को यात्रा के दौरान खाने हेतु प्रदान किए जाएंगे व भण्डारे में 15 क्विंटल देशी घी की विभिन्न प्रकार की मिठाइयॉं भी शिव भक्तों में बांटी जाएगी। उन्होंने साफ कहा कि भंडारे के स्थान (धन्छो) में किसी भी प्रकार का दान स्वीकार नहीं किया जाता है। श्री कैलाश मणी महेश सेवा समिति ने सुन्दरनगर व प्रदेश के सभी शिव भक्तों से प्रार्थना करती है कि पिछले वर्षों की भांति इस वर्ष भी मणि महेश की यात्रा में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लें तथा भगवान भोले की असीम कृपा के पात्र बने।

एक इंजिनियर को मिला था प्रत्यक्ष कैलाश मणि महेश सेवा समिति को बनाने में बीबीएम में कार्यरत डिप्टी चीफ इंजिनियर आर पी शर्मा की सोच ही थी । उनके अनुसार जब वह मणि महेश से लौट रहे थे । धंछो पास रूके उन्हे ऐसा लगा कि कोई उनसे कह रहा है कि यहां पर भी कोई भंडारा और रहने की व्यवस्था होनी चाहिए । तभी से समिति पिछले सात सालों से यहां पर नि:शुल्क देसी घी का भंडारा व रहने की व्यवस्था कर रही है ।

No comments