Breaking News

काम के सिलसिले में करना पड़ता हैं हवाई सफर तो अब प्लेन में नहीं ले जा सकेंगे ये लैपटॉप


अक्सर कई लोग काम के सिलसिले से एक जगह से दूसरी जगह जाते रहते हैं। और ऐसे में वो अपने ऑफिस का कंप्यूटर तो उठा कर नहीं ले जा सकते हैं और लैपटॉप इसी के लिए है कि आपके काम में कोई बाधा ना आए। आप अपने लैपटॉप के साथ कहीं भी कभी आ जा सकते हैं और जहां चाहे वहां काम कर सकते हैं। लेकिन अब हवाई सफ़र करने वालों के लिए एक बुरी खबर है क्योंकि अब आप प्लेन पर इस लैपटॉप को लेकर नहीं जा सकते हैं।

बता दें कि डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (DGCA) ने एप्पल मैकबुक के कुछ मॉडल्स के लैपटॉप को ले जाने पर रोक लगा दी है। इस पाबंदी को लेकर DGCA का कहना है कि एप्पल के ये लैपटॉप में ओवर हीटिंग की समस्या है जिसकी वजह से आग पकड़ने का खतरा रहता है। इसलिए, यह फैसला लिया गया है।

DGCA ने कहा, एप्पल कंपनी ने अपने लैपटॉप के कुछ मॉडल (15 इंच के मैकबुक) को रिकॉल किया है। ये लैपटॉप सितंबर 2015 से फरवरी के 2017 के बीच बेचे गए थे। कंपनी ने इन लैपटॉप को इसलिए रिकॉल किया है क्योंकि बैटरी के ओवरहीट होने का खतरा है। जिससे सुरक्षा को खतरा हो सकता है। इसलिए, पैसेंजर्स से अपील की जाती है कि वे हैंडबैग या लगेज बैग में इस लैपटॉप को कैरी नहीं करें।

DGCA का यह निर्देश इंटरनेशनल और डोमेस्टिक दोनों फ्लायर्स के लिए है। एप्पल कंपनी ने 20 जून 2019 को अपने कस्टमर्स से MacBook Pro को रिकॉल करने के लिए नोटिस जारी किया था। भारत से पहले यूरोपियन यूनियन एविएशन सेफ्टी एजेंसी और अमेरिकन फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन ने सभी एयरलाइन को इस संबंध में कदम उठाने को कहा था।

No comments