Breaking News

शिमला में घर पर गिरा पेड़, कुल्लू में नाले में बाढ़ आने से जाम में फंसे कई वाहन


हिमाचल प्रदेश में मूसलाधार बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। प्रदेश में लगातार तीसरे दिन भी बारिश जारी है। भूस्खलन होने से सूबे में 200 से ज्यादा सड़कें गुरुवार तक बंद रहीं। भारी बारिश से नदी-नाले उफान पर हैं। कई घरों और दुकानों में पानी जा घुसा जिससे लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा।
राजधानी शिमला के कसुम्पटी में एक घर पर पेड़ गिर गया। घर में मौजूद लोग बाल-बाल बच गए। स्थानीय लोगों ने कहा कि नगर निगम शिमला को पेड़ काटने के लिए तीन बार शिकायत की थी लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। अब बरसात के मौसम में यह पेड़ लोगों की जान के लिए खतरा बने हुए हैं।



कुल्लू में भारी बारिश से कई जगह भूस्खलन हुआ है। जिले की करीब 15 सड़कों पर मलबा गिरने से यातायात अवरूद्ध हो गया है। गुरुवार को पागलनाला में बाढ़ आने से लारजी-सैंज मार्ग दो घंटे बंद रहा। सेब, नाशपाती और सेब की गाड़ियां जाम में फंसी रहीं। नाले में मलबा आने से दोनों तरफ लंबा जाम लगा रहा जिसमें कई बसें और छोटे वाहन भी थे।

मूसलाधार बारिश से सेब तुड़ान भी प्रभावित हुआ है। वहीं हमीरपुर जिले के रंगस में धर्मशाला-शिमला नेशनल हाईवे पर पेड़ की बड़ी टहनी गिर गई जिससे यातायात कुछ देर के लिए अवरूद्ध हो गया। लोक निर्माण विभाग के कर्मचारियों ने पेड़ की टहनी को हटाकर हाईवे पर यातायात बहाल कर दिया है।

No comments