Breaking News

गर हाथ में बनता है आधा चाँद तो खुशकिस्मत हैं आप, जानिये क्या होता है इसका मतलब


इंसान हमेशा से ही अपने भविष्य को लेकर काफ़ी उत्सुक रहा है। पहले लोग अपने भविष्य के बारे में नहीं जान पाते थे। लेकिन जब से लोगों ने ग्रहों और नक्षत्रों की गणना के बारे में सीखा है तब से वह किसी भी चीज़ की गणना कर सकते हैं। यहाँ तक भी अपने भविष्य के बारे में भी जान लेते हैं। ज्योतिष शास्त्र का ही एक भाग हस्तरेखा विद्या भी है। इसमें किसी भी व्यक्ति के हाथों की रेखाओं को देखकर उसके बारे में बहुत कुछ जाना जा सकता है। व्यक्ति के जीवन में क्या होने वाला है इसकी जानकारी हाथ की रेखाओं को देखकर आसानी से हो जाती है। हालाँकि हाथ की रेखाओं को पढ़ पाना सबके बस की बात नहीं होती है।

हथेली की रेखाएँ बनाती हैं कुछ अशुभ चिन्ह:

हस्तरेखा को प्रामाणिक विद्याओं में से एक माना जाता है। इसमें हथेलियों की बनावट, रेखाओं और चिन्हों के आधार पर मनुष्य के भविष्य और उसके स्वभाव के बारे में बहुत कुछ जाना जा सकता है। हर व्यक्ति की हथेली में कई तरह की रेखाएँ होती हैं। इनमें से कुछ शुभ रेखाएँ शुभ चिन्ह बनाती हैं तो कुछ अशुभ चिन्ह बनाती हैं। ऐसा ही एक शुभ चिन्ह है आधा चाँद का बनना। अगर आपकी हथेली में भी आधा चाँद बन रहा है तो आज हम आपको इसके बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें बताने जा रहे हैं।

इस तरह से बनता है आधा चाँद:

हथेली की सबसे छोटी ऊँगली के नीचे हृदय रेखा होती है। हृदय रेखा दोनो ही हथेली में समान रूप से होती है। जब दोनो हथेलियों को आपस में जोड़ा जाता है तो हृदय रेखा के मिलने से आधा चाँद बनता है। हालाँकि यह ज़रूरी नहीं है कि सबके हाथ में यह आधा चाँद बने ही। कई लोगों की हथेली में यह आधा चाँद नहीं बनता है।

बनता है आधा चाँद तो होता है यह:

जिन लोगों की दोनो हथेलियों को जोड़कर आधा चाँद बन रहा होता है वो लोग काफ़ी आकर्षक स्वभाव के होते हैं। ऐसे लोग अपने जीवनसाथी को लेकर काफ़ी भावुक रहते हैं और उसे जीवन में हर ख़ुशी देना चाहते हैं। ऐसे लोग अपनी भनाओं को छुपाने की भी कोशिश करते हैं। इन लोगों का दिमाग़ काफ़ी तेज़ी से चलता है, इसीलिए ये किसी भी चीज़ को बहुत जल्दी समझ लेते हैं। हथेली में आधा चाँद बनने की वजह से ये लोग विपरीत परिस्थितियों में भी सकारात्मक रवैया अपनाते हैं।

अगर दोनो हथेली की हृदय रेखा मिलकर एक सीधी रेखा बनाती है तो ऐसे लोग बहुत ही शांत और दयालु स्वभाव के होते हैं। ऐसे लोगों को सभी काम बहुत आराम से करना पसंद होता है। ऐसे लोग बहुत ही कम होते हैं जिनकी हृदय रेखा मिलकर एक सीधी रेखा बनाती है।

जिन लोगों की दोनो हथेली जोड़ने पर आधा चाँद नहीं बन रहा है या हृदय रेखा आपस में जुड़ती हुई नहीं दिखती है तो वो लोग लापरवाह होते हैं। जिन लोगों की दोनो हथेलियाँ मिलाने पर हृदय रेखा टेढ़ी-मेढ़ी दिखाई देती है उन लोगों को कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता है कि लोग उनके बारे में क्या सोचते हैं।

No comments