Breaking News

दुनिया का इकलौता क्रिकेटर जिसे मिली थी फांसी की सजा, नाम जानकर हैरान रह जाओगे


मारपीट या मैच फिक्सिंग के कारण जेल की हवा खानी पड़ी है और कई बार तो उन्हें कभी-कभी टीम से भी निकाल दिया जाता है लेकिन आज हम आपको एक ऐसे क्रिकेटर के बारे में बताने वाले हैं जिसे फांसी की सजा हुई थी और फांसी की सजा पाने वाला दुनिया का इकलौता क्रिकेटर बन गया तो आइए जानते हैं कौन है वह क्रिकेटर।

वेस्टइंडीज का “लेस्ली हिल्टन” इकलौता क्रिकेटर था जिसे फांसी की सजा दी गई इस तेज गेंदबाज ने अपनी पत्नी की हत्या कर दी थी 17 मई 1955 में उसे जमैका में फांसी दे दी गई हिल्टन ने बेवफाई के चलते अपनी पत्नी ने की हत्या की थी हिल्टन की वाइफ का नाम लरवेन रोज़ था जो जमैका के एक पुलिस अधिकारी की बेटी थी 1935 में इंग्लैंड के खिलाफ डेब्यू करने के दौरान हिल्टन की मुलाकात लरवेन से हुई और दोनों में प्यार हो गया।

कुछ साल तक चले अफेयर के बाद दोनों ने सन 1942 में शादी कर ली 5 साल बाद उन्हें एक बेटा भी हो गया लेकिन साल 1954 के बाद से ही उनकी जिंदगी में कड़वाहट आने लगी उनकी पत्नी बिजनेस का बहाना बनाकर अक्सर न्यूयॉर्क जाने लगी। उसी साल उन्हें एक गुमनाम खत भी मिला जिसमे लिखा था कि उनकी पत्नी का न्यूयॉर्क में रहने वाले एक व्यक्ति के साथ नाजायज संबंध है यह पढ़कर वे बेचैन हो उठे और उन्होंने अपनी पत्नी को टेलीग्राम किया और घर बुलाया।

लेकिन उनकी पत्नी ने घर आने में थोड़ी टालमटोल जरूर की और घर लौट आई और अपने ऊपर लगे इन आरोपों को बेबुनियाद बताया लेकिन इस बात को उन्होंने स्वीकार जरूर किया कि वह रॉय अफ्नोसिस को जरूर जानती हैं यह सुनने के बाद हिल्टन का गुस्सा काफी बढ़ गया और उन्होंने अपनी पत्नी को गोली मार दी कोर्ट में सुनवाई के दौरान हिल्टन ने अपने बचाव में कहा कि वह खुद को गोली मारना चाहते थे लेकिन गलती से गोली उनकी पत्नी को लग गई हालांकि कोर्ट ने उनकी बात को नहीं माना क्योंकि लरवेन के शरीर में 7 गोलियां लगी थी 20 अप्रैल 1954 को उन्हें अपनी पत्नी की हत्या के आरोप में दोषी पाया गया और 17 मई 1955 को उन्हें फांसी दे दी गई लेस्ली हिल्टन उस समय क्रिकेट की दुनिया का उभरता सितारा था।

No comments