Breaking News

झील में 73 सालों से दफन थी ऐसी चीज़, जिसे हर कोई चाहता था पाना, करोड़ों रुपए में लग गई बोली


73 सालों से एक झील में पड़ी पुरानी वस्तु ने सबको चौंका दिया. दरअसल यह वस्तु 1925 की विंटेज बुगाटी कार थी जिसकी नीलामी ढाई करोड रुपए में हुई. पूर्णता खराब हो चुकी इस कार को एक म्यूजियम में रखा गया है। जहां पर लोगों के देखने का केंद्र बनी हुई है.

73 साल से पड़ी थी झील में

इस कार को 73 साल तक पानी में पड़े रहने के बाद सन 2009 में झील से निकाला गया था. इटली और स्विट्जरलैंड के बॉर्डर पर मौजूद मेग्गियोरे लेक से निकली गई यह कार 1925 विंटेज बुगाती टाइप 22 है.

ब्रेस्किया रोडस्टर नाम से मशहूर इस कार में 4 सिलेंडर और 1.5 लीटर का इंजन है. 100 मिल की रफ़्तार से दौड़ने वाली यह कार ऑफिशियल तौर पर फ्रांस के एड्रेस पर रजिस्टर्ड है. 1935 में इसको लेक में गिराया था जिसके पीछे एक कहानी है.

इस तरह डूबी थी कार

ग्रैंड प्रिक्स इस कार के मालिक थे जो 1934 में स्विस प्लेबॉय ऐडलबर्ट बोर्ड से मात खा चुके थे. इसके बाद ऐडलबर्ट इस कार से स्विजरलैंड बॉर्डर को क्रॉस करना चाहते थे। लेकिन महंगा इंपोर्ट टैक्स होने के कारण वे कार से बॉर्डर पार नहीं कर पाए. एडल्टबर्ट ने स्विस अफसरों को यह कहा कि यह कार उन के लिए कोई काम की नहीं है, आप इसे जैसे चाहे निपटे. स्विस अफसरों ने इस कार को झील में डुबो दिया. 1967 में जब डाइवर उगो पिल्लन ने इसके मलबे को देखा तो इस कार की लोकेशन का पता चला. 40 साल बाद लोकल डाइव ने यूथ वायलेंस की मदद से इसको बाहर निकालकर इसे नीलाम करने का विचार किया.

2 करोड़ 70 लाख में हुई नीलाम

इस कार को ऑटोमेटिव म्यूजियम के ओनर पीटर मुलिन ने 2 करोड़ 70 लाख रूपए में जनवरी 2010 में ख़रीदा. जिस हालात में इस कार को झील से निकाला था। उसी हालात में ऐसे म्यूजियम में रख दिया गया है।

No comments