Breaking News

शॉर्ट्स में शॉपिंग करती लड़की को साड़ी वाली आंटी ने मारा तमाचा, बोली- तेरा तो रेप होना चाहिए


अपनी प्रगतिशील सोच के लिए पूरे देश में सराहे जाने वाली मस्ती की नगरी कोलकाता में शॉर्ट्स पहनने की वजह से एमफिल की एक छात्रा की सरेआम पिटाई के मामले में पुलिस की निष्क्रियता को लेकर सोशल साइट पर अभियान चलने लगा है। एक सप्ताह पूर्व जादवपुर विश्वविद्यालय की एमफिल की 25 वर्षीय छात्रा को दक्षिण कोलकाता के जोधपुर पार्क के पास एक महिला ने सिर्फ इसीलिए पीट दिया था क्योंकि युवती ने शॉर्ट्स पहन रखा था।

बताया जाता है कि जिस छात्रा को मारा पीटा गया है वह मूल रूप से उत्तर 24 परगना के बनगांव की रहने वाली है। जादवपुर विश्वविद्यालय से वह एमफिल की पढ़ाई कर रही है। जोधपुर पार्क के पास वह पीजी में रहती है। बीते गुरुवार को अपराह्न 1:30 बजे के करीब वह शॉर्ट्स पहन कर कुछ सामान खरीदने के लिए स्थानीय बाजार गई थी। उसी समय एक महिला ने उसे रोका और पूछा, “तुम इस तरह के कपड़े क्यों पहनी हो जिसमें पूरा बदन दिख रहा है? इसी वजह से समाज में दुष्कर्म की प्रवृत्ति बढ़ रही हैं।”

उसके बाद जब छात्रा ने इसका विरोध किया तब महिला गुस्सा हो गई। उसके कपड़े को लेकर तमाम तरह की बातें कहने लगी और देखते ही देखते उसे थप्पड़ जड़ दिया। छात्रा विरोध करती रही लेकिन महिला उसे लगातार मारती रही और कहा की तुम्हारा तो रेप होना चाहिए।

ये सुनकर पहले तो छात्रा चौंक गई। इसके बाद उसने विरोध करते हुए कहा कि महिला को ऐसा कहने का अधिकार नहीं है। ऐसा करना अपराध भी है। इसके बाद भी महिला ने उसे उलटा-सीधा कहना जारी रखा। बात बढ़ती देख छात्रा ने पास के ट्रैफिक पुलिस से मदद लेने की सोची। यह देखकर महिला ने उसे एक थप्पड़ जड़ दिया। छात्रा का कहना था, ‘मैं हैरान रह गई। मैंने उससे कहा कि मामले को ज्यादा तूल दे रही हैं, इस पर उसने मुझे एक और थप्पड़ मार दिया। तब तक और लोग मेरी मदद के लिए आ गए, यह देखकर वह महिला भाग गई।

आसपास लोग थे लेकिन किसी ने भी मदद नहीं की। महिला से लगातार प्रताड़ित हो रही युवती ने जब कहा कि उसने अपराध किया है तब महिला और आक्रोशित हो गई और लगातार उल-जुलूल बोले जा रही थी। इस बीच कुछ लोग एकत्रित हो गए थे, जिसके बाद हालात को समझते हुए वह महिला वहां से चली गई। जबकि छात्रा रोते हुए अपने पीजी लौटी। बाद में कॉलेज के दोस्तों को उसने जानकारी दी और थाने जाकर प्राथमिकी दर्ज कराई।

इस दौरान छात्रा ने डीसीपी से भी बात की, जिस पर डीसीपी ने आश्वस्त किया कि उस पर हमला करने वाली महिला की जल्द गिरफ्तारी हो जाएगी। पुलिस की ओर से बताया गया था कि सीसीटीवी फुटेज देखा जा रहा है। स्थानीय लोगों से पूछताछ कर महिला को पकड़ना आसान है। यह भी दावा किया गया था कि वारदात को अंजाम देने वाली आस पास ही रहती होगी लेकिन एक सप्ताह से अधिक का समय बीत जाने के बाद भी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

अब छात्रों के एक समूह ने सोशल साइट पर पुलिस की निष्क्रियता को लेकर एक अभियान चलाने की शुरुआत की है। इस बारे में प्रतिक्रिया के लिए गुरुवार को कई आला अधिकारियों से बात की गई लेकिन किसी ने भी स्पष्ट तौर पर इस पर कुछ भी कहने से इनकार कर दिया। वैसे सूत्रों का कहना है कि इलाके का सीसीटीवी फुटेज देखा गया है। महिला की तलाश की जा रही है।

No comments