Breaking News

प्रेमिका से मिलने गया था युवक, घरवालों चारपाई से बांध कर जिंदा जलाया, सदमे में मां ने भी तोड़ा दम


उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. यहां के कोतवाली शहर क्षेत्र में अपनी प्रेमिका से मिलने उसके घर गए युवक को लड़की के घरवालों ने चारपाई से बांधकर जिंदा जला  दिया. 50 फ़ीसदी तक जले युवक ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया. बेटे की मौत की खबर मिलते ही मां ने सदमे में दम तोड़ दिया. पुलिस ने इस मामले में लड़की समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है.

ये भी पढ़े : हिमाचल: इस लड़की की दर्द भरी कहानी पढ़कर रो पड़ोगे आप

मामला कोतवाली शहर इलाके के भदैचा गांव का है, जहां का रहने वाला मोनू राधेश्याम की भतीजी से प्यार करता था. बीते शनिवार रात को मोनू अपनी प्रेमिका से मिलने उसके घर गया था, जहां उसे लड़की के घरवालों ने रंगे हाथों पकड़ लिया. उसके बाद सबने मिलकर मोनू को चारपाई से बांध दिया और उसे जिंदा जला दिया. मोनू की चीख सुनकर गांववालों ने डायल 100 को इसकी सूचना दी. इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने मोनू को प्रेमिका के घरवालों से आजाद कराकर जिला अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसकी हालत को गंभीर देखते हुए लखनऊ रेफर कर दिया गया. लेकिन रास्ते में ही मोनू ने दम तोड़ दिया. बेटे की मौत की खबर सुनते ही अस्पताल में भर्ती उसकी बीमार मां की भी सदमे से मौत हो गई.

ये भी पढ़े : शिमला में नाबालिग लड़की का अपहरण,  परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल

6 साल पहले भी फरार हुए थे दोनों प्रेमी युगल
फिलहाल पुलिस ने आरोपी पक्ष को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ शुरू कर दी है. पुलिस अधीक्षक (एसपी) आलोक प्रियदर्शी ने बताया कि गांव का ही मोनू राधेश्याम की भतीजी से प्रेम करता था. लगभग 6 साल पहले प्रेमी जोड़ा घर से फरार हो गया था, लेकिन तब लड़की के घरवाले उन्हें ढूंढकर वापस ले आए थे. शनिवार रात मोनू अपनी प्रेमिका से मिलने उसके घर पहुंच गया. जिसके बाद घरवालों ने उसको रंगे हाथों पकड़ लिया और फिर घर की कोठरी में चारपाई से बांध कर आग के हवाले कर दिया. लगभग 50 प्रतिशत जले मोनू की चीख-पुकार सुनकर इलाके के लोगों ने पुलिस को इसकी सूचना दी. इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने मोनू को वहां से छुड़ाया और जिला अस्पताल में भर्ती कराया.
चारपाई से बांधकर जिंदा जलाया
तीन आरोपी गिरफ्तार


एसपी आलोक प्रियदर्शी ने कहा कि गांववालों का आरोप है कि मोनू के साथ घटित हुई घटना के बाद उसकी मां की सदमे से मौत हो गई. दावा है कि उसकी मां लंबे वक्त से बीमार चल रही थी. बुखार के चलते देर रात उनकी हालत बिगड़ गई जिसके बाद उन्हें जिला अस्पताल रेफर किया गया जहां ले जाते वक्त रास्ते में उसकी मौत हो गई. मोनू की मां की मौत और इस वारदात के बीच समय का आकलन किया जा रहा है. अगर ऐसा कुछ पाया जाता है तो इस मामले में आगे धाराएं भी बढ़ाई जाएंगी. फिलहाल पुलिस तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर मामले में उनसे पूछताछ कर रही है.

1 comment

bhrigupandit said...

crime, very bad. www.bhrigupandit.com