Breaking News

स्कूली बच्चों के लिए एक नया नियम लागू, रात दस बजे के बाद सब बच्चों को...


नींद अपेक्षाकृत निलंबित संवेदी और संचालक गतिविधि की चेतना की एक प्राकृतिक बार-बार आनेवाली रूपांतरित स्थिति है। सेहत के सुधार के लिए और हमारे मानसिक एवं शारीरिक विकास के लिए नींद अत्यंत आवश्यक है। जानकारी के अनुसार आपको बता दे की चीन में इन दिनों शिक्षा व्यवस्था को लेकर गर्मागर्म बहस छिड़ी है। वजह है स्कूली बच्चों के लिए हाल ही में आया एक नया प्रस्ताव, जिसमें होमवर्क से ऊपर समय पर सोने को तवज्जो दी गई है।

खबर के अनुसार यहां स्कूली बच्चों के लिए एक नया नियम लागू किया गया है, जिसके तहत यहां सभी बच्चों को 10 बजे से पहले सोना अनिवार्य है। ऐसा तब भी जबकि उनका होमवर्क पूरा न हुआ हो। लोग इसे 'कर्फ्यू' का नाम दे रहे हैं। पूर्वी झेजियांग प्रांत में बाकायदा एक दिशा-निर्देश मसौदा प्रकाशित किया गया है।

जिसमें विद्यार्थियों के लिए अभिभावकों की अनुमति से एक आदर्श समय पर सो जाने का सुझाव है। चाहे उनका स्कूल से मिला होमवर्क पूरा हुआ हो या न हुआ हो।प्राइमरी स्कूलों के विद्यार्थियों के लिए बिस्तर पर जाने का समय 9 बजे सुझाया गया है, जबकि माध्यमिक स्कूल के छात्रों के लिए यह रात दस बजे हैं।

प्रस्ताव में शामिल हैं और भी सुझाव : चीनी स्कूली बच्चों के पास होमवर्क का बड़ा हिस्सा होता है। माता-पिता द्वारा अतिरिक्त गतिविधियों में भी बच्चों को हिस्सेदार बनाया जाता है।

चिंतित हैं अभिभावक-
इस प्रस्ताव के चलते चीन में बहस छिड़ गई है। अभिभावकों की चिंता यह है कि बच्चों से होमवर्क का भार कम होने से वह प्रतिस्पर्धा में पिछड़ जाएंगे।

No comments