Breaking News

हमीरपुरः विवाह के फेर में फंसी शादी, मुकरा कन्या पक्ष


हमीरपुर। यहां एक कोर्ट मैरिज चट मंगनी पट विवाह के फेर फंस गईं। ऐन वक्त पर कन्या पक्ष कोर्ट मैरिज से मुकर गया। हालांकि दूल्हा-दुल्हन एसडीएम कोर्ट में ही विवाह रजिस्टर करवाना चाहते थे, लेकिन दुल्हन पक्ष के लोग नहीं माने। इस खींचतान में काफी लोग भी इस शादी के ड्रामे में शामिल हो गए। दोनों पक्ष मिनी सचिवालय के गेट पर भी मामला सुलझाने की कोशिश करते दिखे।

बता दें कि एसडीएम कोर्ट हमीरपुर के बाहर पूरा दिन शादी का ड्रामा चलता रहा, लेकिन जैसे ही कोर्ट मैरिज की फाइल सबमिट करने का वक़्त आया तो कन्या पक्ष मुकर गया। मिली जानकारी के अनुसार हमीरपुर नगर के साथ लगते एक गांव की लड़की का दिल विदेश में रह रहे युवक पर आ गया। लड़का शाहतलाई की तरफ से है और मालद्वीप में नौकरी करता है। इस बारे लड़के ने अपने माता- पिता से बात की तो उन्होंने बात आगे बढ़ाई। आखिर लड़की के रिश्तेदार व अभिभावक भी कोर्ट मैरिज को राजी हो गए। बात ओके होते ही दूल्हा भी मालद्वीप से बीस दिन की छुट्टी लेकर घर पहुंच गया।
एसडीएम कोर्ट में मैरिज ऑफिसर के पास विवाह की रजिस्ट्रेशन की फाइल सबमिट करवाने दूल्हा व दुल्हन पक्ष के लोग पहुंच गए।

मैरिज कोर्ट में उन्हें मैरिज एक्ट की सेक्शन 5 के बारे में बताया गया। एक्ट में स्पष्ट लिखा है कि एक महीने की नोटिस अवधि रहेगी। इसमें मैरिज ऑफिसर अपने नोटिस बोर्ड पर शादी की सूचना चस्पा कर आपत्ति आमंत्रित करेगा। अगर आपत्ति आती है तो उस पर विचार होगा और नहीं आती है तो तीन गवाहों के समक्ष शादी हो जाएगी। दुल्हन पक्ष चट मंगनी पट विवाह की स्थिति में दिखा और उन्हें एक माह की अवधि बहुत लंबी लगी।

No comments