Breaking News

डेंगू होने पर करें महज इन दो चीजों का सेवन, तुरंत सही हो जाएगा ये बुखार


डेंगू एक खतरनाक बीमारी है जो कि मच्छर के काटने से होती है। डेंगू होने पर तेज बुखार आता है और शरीर में प्लेटलेट्स की संख्या कम होने लग जाती है और प्लेटलेट्स की संख्या कम होने से जान जा सकती है। इसलिए डेंगू होने पर आप इसका इलाज सही से करवाएं और इलाज के साथ अपने खानपान पर भी ध्यान दें। क्योंकि कई ऐसी चीजें हैं जिनको खाने से शरीर में प्लेटलेट्स की संख्या बढ़ने लग जाती है और डेंगू सही हो जाता है।

डेंगू होने के लक्षण: डेंगू से कई तरह के लक्षण जुड़े हुए हैं और ये लक्षण दिखने पर आप अपने खून की जांच जरूर करवाएं।
तेज बुखार आना और एकदम से बुखार का उतर जाना

  • पूरे शरीर में दर्द होना
  • भूख ना लगना
  • कमजोरी महसूस होना
  • उल्टी आना और पसीना खूब आना
  • डेंगू होने पर आजमाएं ये घरेलू उपाए
  • पपीता खाएं
पपीता डेंगू के मरीजों के लिए बेहद ही फायदेमंद होता है और इसे खाने से डेंगू जल्द ही सही हो जाता है। डेंगू होने पर आप पपीते और पपीते के पत्तों का सेवन करें। पपीते के पत्तों में कायमोपापिन (chymopapin) और पापेन (papain) पाया जाता है जो कि प्लेटलेट्स काउंट को बढ़ाने का काम करता है और यही कारण है कि पपीता को डेंगू के मरीज़ के लिए रामबाण माना जाता है।
कैसे करें पपीते के पत्तों का सेवन: पपीते के पेड़ की पत्तियों को आप तोड़कर अच्छे से साफ कर लें। फिर इन्हें आप पीस लें और इसका जूस निकाल लें। इस जूस को आप दिन में तीन बार पीएं। रोज ये जूस पीने से प्लेटलेट्स काउंट बढ़ने लग जाएगी।
गिलोय का जूस: गिलोय के पत्तों को भी डेंगू के मरीजों के लिए कारगर माना जाता है और गिलोय के पत्तों को खाने से और इसका जूस पीने से डेंगू सही हो जाता है। कई प्रकार की दवाओं को बनाने के लिए भी गिलोय के पत्तों का प्रयोग किया जाता है।
इस तरह से करें सेवन: आप गिलोय के पत्ते को अच्छे से साफ करके पीस लें और इसका निकाल लें। ये रस पीने से आप जल्द ही सही हो जाएगा और डेंगू से निजात मिल जाएगी। आप चाहें तो गिलोय के जूस के अंदर तुलसी के पत्ते भी मिला सकते हैं।

आपको बात दें कि आयुर्वेद के अलावा साइंस में भी ये बात साबित हो गई है कि गिलोय और पपीते की मदद से डेंगू को सही किया जा सकता है। पपीते पर किए गए एक शोध के अनुसार पपीते के पत्तों का जूस कैंसर के लिए उत्तम होते हैं और इसे पीने से डेंगू का रोग भी सही हो जाता है। इसके अलावा पपीते के पत्तों की मदद से इम्यूनिटी भी बढ़ जाती है और ऐसा होने से शरीर को रोग नहीं लगते हैं।

ऊपर बताए गए उपायों के साथ आप डॉक्टर से भी अपना इलाज करवाएं और केवल इनपर ही निर्भर ना रहें। क्योंकि समय रहते डेंगू का इलाज ना किया जाए तो डेंगू बिगड़ सकता है और जान तक जा सकती है।

No comments