Breaking News

जानिए कैसे बनाये जाते हैं स्वादिष्ट हिमाचली पत्रोड़ू


पत्रोड़ू जिसे हिमाचल के अलग अलग जिलों में अलग अलग नाम से पुकारा जाता है. पत्रोड़ू को अक्सर पतरा पत्रोड़ भी कहा जाता है. ये हिमाचल में बरसात के समय बहुत ही ज्यादा खाया जाने वाला व्यंजन है. हिमाचली पत्रोड़ू के दीवाने पुरे दुनिया में पाए जाते हैं. ये व्यंजन अरवी के पत्तों से बनाया जाता है. आज हम आपको बताने जा रहे हैं आखिर कैसे बनाये जाते स्वादिस्ट हिमाचली पत्रोड़ू

ऐसे बनाये स्वादिस्ट हिमाचली पत्रोड़ू  अरबी के पत्तो के गट्टे बनाने के लिए। सामग्री इस प्रकार हैं। :-
  • अरबी के पत्ते :- 10 से 12 साफ अरबी के पत्ते ,
  • बेसन :- एक कप बेसन ,
  • लाल मिर्च पाउडर :- एक टी स्पुन लाल मिर्च पाउडर ,
  • हल्दी पाउडर :- 1/4 टी स्पुन हल्दी पाउडर ,
  • जीरा :- 1/4 टी स्पुन जीरा ,
  • अज़वाइंन :- 1/4 टी स्पुन अज़वाइंन ,
  • चाट मसाला :- 1 टी स्पुन चाट मसाला ,
  • नमक :- स्वांद अनुसार ,
  • पानी :- आधा ग्लास पानी ,

अरबी के पत्ते के गट्टे को तड़के / बघार के लिए सामग्री इस प्रकार हैं। 
  • तेल :- एक सर्वीस स्पुन तेल ,
  • जीरा :- 1/4 टी स्पुन जीरा ,
  • राई :- 1/4 टी स्पुन राई ,
  • हरी मिर्ची :- तीन से चार हरी मिर्ची बारीक काटा हुआ ,
  • नीम्बू का रस :- स्वादानूसार नीम्बू का रस ,

अरबी के पत्ते के गट्टे बनाने की विधि।

स्टेप 1 अरबी के पत्ते के गट्‍टे / पातरा

सब से पहले आप ताजा अरबी के पत्तों को डंठल हटा कर। पत्तो को अच्छी तरह से धो लें। और साफ कपड़े से साफ कर ले।

स्टेप 2 अरबी के पत्ते के गट्‍टे / पातरा

अब आप एक मिक्सिंग बोल ले। उस में। एक कटोरी बेसन , एक टी स्पुन लाल मिर्च पाउडर , 1/4 टी स्पुन हल्दी पाउडर , 1/4 टी स्पुन जीरा , 1/4 टी स्पुन अज़वाइंन , 1 टी स्पुन चाट मसाला , स्वांद अनुसार नमक , आधा ग्लास पानी डाल कर अच्छी तरह से मिक्स करें। इस प्रकार से पेस्ट तैयार करें।

स्टेप 3 अब आप एक प्लेट ले उस के , ऊपर अरबी के पत्ते रख कर , उस के ऊपर बेसन का पेस्ट की एक परत लगाइए और फोटो में दिखाया गया विधि से पत्तों के किनारों को मोडिए और फिर नीचे से ऊपर की तरह लाते हुए बंद कर दिजीए। इसी प्रकार से सभी पत्तों का पातरा बनाइए।

अरबी के पत्तों को भाप में पकाने की विधि इस प्रकार से हैं।

स्टेप 4 अब आप एक बड़े भगोने में दो ग्लास पानी डाल कर। उस में चावल की जारी रख कर। अरबी के पत्ते के गट्टे / पातरा रखें और उस के ऊपर एक प्लेट् ढ़क कर। मध्यम आँच पर भाप में 10 से 15 मिनट तक पकाएं। अब आप गैंस को बंद करके अरबी के पत्ते को निकाल कर। ठंडा होने के लिए रख दे। जब अरबी के पत्ते के गट्टे / पातरा ठंडा होने पर। एक से दो इंच के टूकडो में। काट कर रख दे।

स्टेप 5 अब आप एक कड़ाही ले उस में। एक सर्वीस स्पुन तेल डाल कर। तेल को गरम करें। जब तेल गरम होने पर। तीन से चार हरी मिर्ची बारीक काटा हुआ , 1/4 टी स्पुन जीरा 1/4 टी स्पुन राई डाल कर। फ्राई करें। जब राई तड़कने लगे तब। आप उस में। अरबी के पत्ते के गट्टे काटा हुआ , डाल कर। 5 मिनट तक फ्राई करें। और स्वांद अनुसार निम्बू का रस मिला कर सर्व करे।

नोट : अरबी के पत्ते के गट्टे को स्टेप 4 के अनुसार ही भाप में 10 से 15 मिनट तक पकाएं।

सुझाव :- अरबी के पत्ते के गट्टे / पातरा बनाने की दुसरी विधि। इस प्रकार से हैं। आप एक मिक्सिंग बोल ले। उस में एक कटोरी बेसन , दो टी स्पुन चावल का आटा , दो टी स्पुन मक्की का आटा , एक टी स्पुन अदरक पेस्ट , दो टी स्पुन हरी मिर्ची का पेस्ट , 1/4 टी स्पुन हींग , एक टी स्पुन लाल मिर्च पाउडर , 1/4 टी स्पुन हल्दी पाउडर , 1/4 टी स्पुन जीरा , 1/4 टी स्पुन अज़वाइंन , एक कप दही , स्वांद अनुसार नमक , एक कप पानी डाल कर अच्छी तरह से मिक्स करें। इस प्रकार से पेस्ट तैयार करें।

अरबी के पत्ते बहुत ही मुलायम हैं। तो आप तीन से चार पत्तों का सेट इस प्रकार से तैयार करें। अरबी के पत्ते के ऊपर पेस्ट लगा कर उस पर अरबी के पत्ते रख कर। उस पर पेस्ट और लगा कर। अरबी के एक और पत्ते रख कर। उस के ऊपर पेस्ट लगा ले। इस प्रकार से स्टेप 3 के अनुसार से मोडिए और स्टेप 4 के अनुसार भाप में पकाएं।

अरबी के पत्ते को भाप में पका कर फ्रिज में रख ले। जब जरूरत हो तो उसे , स्टेप 5 के अनुसार फ्राई कर के , गरमागरम सर्व करें।

No comments