Breaking News

8 साल बाद टीम इंडिया से हुआ गायब, 6 गेंद में 5 विकेट लेकर मचा दिया तहलका


मुंबई इंडियंस, सनराइज़र्स हैदराबाद और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलुरु जैसी टीमों के लिए खेलने वाले अभिमन्यु मिथुन का नाम जाना पहचाना है. मिथुन ने 2010 के आसपास भारत के लिए 5 वनडे और 4 टेस्ट भी खेले हैं. लेकिन टीम इंडिया में खेलने के इतने दिन बाद एक बार फिर से मिथुन लगातार सुर्खियों में हैं.

पिछले महीने ही विजय हज़ारे ट्रॉफी में इस खिलाड़ी ने हैट्रिक लेकर सुर्खियां बटोरी थी. लेकिन इसके बाद कर्नाटक प्रीमियर लीग में फिक्सिंग के तार इन तक पहुंचने की खबर आई. सेन्ट्रल क्राइम ब्रांच ने हाल में ही इस खिलाड़ी को पूछताछ के लिए समन भेजा था. लेकिन इसके बाद मिथुन फिर से सुर्खियों में आ गए.

इस बार वो खेल के मैदान पर ऐसे प्रदर्शन से सुर्खियों में आए हैं, कि उनकी तरफ हर किसी का ध्यान चला गया है. शुक्रवार को सैयद मुश्ताक अली टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में कर्नाटक और हरियाणा के बीच मैच खेला गया. इस मैच में हरियाणा ने 8 विकेट खोकर 194 रन बनाए. एक वक्त लग रहा था कि स्कोर 200 से भी बहुत आगे जाएगा. पर आखिरी ओवर की छह गेंदों ने मैच का पासा पलटकर रख दिया.

कप्तान मनीष पांडे ने अपने अनुभवी तेज़ गेंदबाज़ मिथुन को गेंद सौंपी. उन्होंने भी ऐसा कमाल कर दिया जो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में भी कभी नहीं हुआ. मिथुन ने पारी के आखिरी ओवर में 5 विकेट चटकाए. टी20 क्रिकेट में ऐसा ही कमाल साल 2013 में बांग्लादेश के डॉमेस्टिक टूर्नामेंट में अल अमीन ने किया था. मिथुन ने पहली से चौथी गेंद तक लगातर 4 विकेट लिए. इसके बाद उन्होंने एक वाइड गेंद फेंकी. ओवर की पांचवी गेंद पर एक रन आया. लेकिन इसके बाद आखिरी गेंद पर उन्होंने फिर से एक विकेट लिया और ओवर को शानदार तरीके से खत्म किया.

मिथुन ने सबसे पहले हिमांशु राणा (61) को आउट किया, दूसरी गेंद पर उन्होंने राहुल तेवतिया (34) को आउट किया. अब आई हैट्रिक गेंद. उन्होंने तुरंत सुमित कुमार को आउट कर अपनी हैट्रिक पूरी कर ली. लेकिन अभी तो मिथुन का काम पूरी ही नहीं हुआ था. चौथी गेंद पर मिथुन ने हरियाणा के कप्तान अमित मिश्रा और फिर आखिरी गेंद पर जयंत यादव को भी आउट कर ये कारनामा कर दिया.



मैच में इससे पहले अपने तीन ओवरों के स्पेल में उन्हें एक भी विकेट नहीं मिला था. मिथुन ने इस मैच से पहले भी दो बार हैट्रिक ली है. पहले 2009 की रणजी ट्रॉफी में उत्तर प्रदेश के खिलाफ और पिछले महीने विजय हजारे ट्रॉफी (लिस्ट-ए) के फाइनल में तमिलनाडु के खिलाफ.

No comments