Breaking News

मंडी: बाइक से कुचले बच्चे को PGI ने भेजा घर, पिता परेशान है कि रोटी कमाए या बेटे की मदद के लिए हाथ पसारे


सुंदरनगर:  तीन हफ्ते पहले सुंदरनगर के ललित चौंक पर लपेटे में दो प्रवासी बच्चों में से एक बच्चे सन्नी को पीजीआई ने वापिस भेज दिया है। डाक्टरों के हाथ खड़े करने के बाद अब सुंदरनगर के पुंग में रह रहे प्रवासी परिवार गमगीन हो गया है। सन्नी के पिता कश्मीर सिंह ने बताया कि हादसे के बाद उनके बेटे का इलाज पीजीआई में चल रहा था। उन्होंने कहा कि पहले बच्चा कोमा में था। अब बच्चे ने आंखे तो खोल दी पर वह किसी को भी नहीं पहचान रहा है।

आलम यह है कि पीजीआई ने भी बच्चे को वापिस घर तो भेज दिया, मगर वह जी पाएगा कि नहीं वह भी कोई आश्वासन नहीं मिला है। परिवार बच्चे के हादसे के बाद आर्थिक तौर पर भी टूट गया। बेटी की शादी के लिए रखे पैसे से परिवार बच्चे का इलाज करवा रहा था। अब पैसे के लिए भी परिवार मोहताज हो गया है। अब परिवार को समझ नहीं आ रहा है कि वह बच्चे को कहां ले जाए। हांलाकि प्रशासन और लोगों ने मदद तो कि मगर डाक्टरों के हाथ खड़े करने के बाद परिवार भी बेबस हो गया है।

पिता परेशान है कि वह रोजी रोटी कमाए या फिर बेटे की मदद के लिए हाथ पसारे। पुलिस अभी तक कोर्ट में चालान तक नहीं कर पाई है। पिता कश्मीर सिंह ने पुलिस से मांग की है कि उनका बेटा आज मौत के दरवाजे जिसकी वजह से पहुंचा है। उस पर जल्द से जल्द कोर्ट में चालान पेश करें, ताकि आरोपी पर मुकदमा चल सके।

इस बारे में एसडीएम सुंदरनगर राहूल चौहान ने बताया कि परिवार उनके पास आया था। उन्होनें कि प्रशासन से जो भी मदद होगी। वह की जा रही है। वहीं इस बारे में एसपी मंडी गुरूदेव शर्मा ने बताया कि कोर्ट में जल्द ही चालान पेशकर आरोपी पर मुकदमा चलाया जा रहा है। उन्होनें कहा पीड़ित परिवार को नियमानुसार राहत भी दिलवाई जाएगी।

2 comments

Naved said...

Want to help this child

Anonymous said...

Tell me contact number of this child I want help this