Breaking News

पोस्ट ऑफिस की वो तीन योजनाएं, जो दोगुना करती हैं आपका पैसा, जल्द करें निवेश


भारत में कई सरकारी योजनाएं मौजूद हैं, जिनका फायदा लोग उठा रहे हैं। हर मां-बाप अपने बच्चे का जीवन सफल बनाना चाहते हैं। ऐसे में अगर आप न्यूनतम निवेश पर अधिकतम रिटर्न पाना चाहते हैं तो भारत सरकार द्वारा चलाई जा रही ऐसी कई बचत योजनाएं हैं, जहां पैसा लगाना आपके लिए फायदेमंद रहेगा। इनमें से अधिकांश योजनाएं डाकघरों में भी उपलब्ध हैं। आइए जानते हैं पोस्ट ऑफिस की तीन बेहद लाभदायक योजनाओं के बारे में।

नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट स्कीम पोस्ट ऑफिस की नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट यानी एनएससी ( NSC ) योजना से आपको मोटा मुनाफा हो सकता है। इस योजना में निवेश करने पर आपका पैसा महज 119 महीनों में दोगुना हो जाएगा। वहीं इसकी सबसे खास बात यह है कि इसमें आप मात्र 100 रुपये से निवेश कर सकते हैं। साथ ही इसके जरिए टैक्स छूट का लाभ भी मिलता है। 

पोस्ट ऑफिस की इस योजना के तहत निवेश की कुल अवधि पांच साल है। बता दें कि इंडिया पोस्ट के अनुसार, इस स्कीम के तहत खाता कम से कम 100 रुपये से खुलता है और इसके तहत खाता देशभर में पोस्ट ऑफिस के ब्रांच में खोला जा सकता है। अधिकतम निवेश की सीमा तय नहीं है। एनएससी में 100 रुपये निवेश करने पर यह पांच साल बाद 146 रुपये हो जाता है। यानी निवेश दोगुना होने में इसमें 9.11 साल यानी 119 महीने का समय लगेगा।

टाइम डिपॉजिट स्कीम पोस्ट ऑफिस की टाइम डिपॉजिट स्कीम से भी निवेशकों को मोटा मुनाफा हो सकता है। यह बैंक के फिक्स्ड डिपॉजिट (एफडी) की तरह होते हैं। इनमें एक साल , दो साल, तीन साल और पांच साल वाली योजना शामिल है। स्कीम में ब्याज की गणना त्रैमासिक आधार पर होगी। 

खाता खुलवाने के एक साल के अंत में ब्याज की रकम आपके खाते में जमा कर दी जाएगी। खास बात यह है कि इसमें 10 साल से ज्यादा की उम्र के नाबालिग भी स्कीम में निवेश कर सकते हैं। इतना ही नहीं, पांच साल के टाइम डिपॉजिट पर सेक्शन 80सी के तहत टैक्स छूट का फायदा मिलता है। इसको नकद या चेक के जरिए खुलवाया जा सकता है। इस बीच आपको एक बात का ध्यान रखना होगा कि प्री-मैच्योर विदड्रॉल की स्थिति में पांच साल वाले टाइम डिपॉजिट खाते पर तीन साल वाले खाते की ब्याज दर के हिसाब से ब्याज की गणना की जाएगी।

किसान विकास पत्र किसान विकास पत्र के माध्यम से आप अपना पैसा दोगुना कर सकते हैं। ब्याज दरें अमूमन एक तिमाही तक फिक्स्ड रहती हैं। केवीपी में कम से कम किसी भी व्यक्ति को एक हजार रुपये का निवेश करना होगा। निवेश 100 के गुणांक में होगा। हालांकि इस योजना में निवेश की कोई अधिकतम सीमा तय नहीं है। इसके साथ ही कोई भी व्यक्ति कितने भी खाते खोल सकता है। 

केवीपी को सरकार छोटी बचत योजनाओं के अंतगर्त चला रही है। इन पर मिलने वाला ब्याज हर तीन महीने में बदलता है। फिलहाल इस योजना पर 7.6 फीसदी ब्याज मिल रहा है। ढाई साल के बाद समय से पहले विदड्राल की स्थिति में व्यक्ति को प्रति 1,000 रुपये के निवेश पर 1,173 रुपये मिलेंगे। तीन साल के बाद मिलने वाली धनराशि बढ़कर 1,211 रुपये और साढ़े तीन साल के बाद यह 1,251 रुपये हो जाएगी। समय के साथ निकाली जाने वाली रकम बढ़ती जाएगी और नौ साल पांच महीने के बाद पैसा दोगुना हो जाएगा। किसान विकास पत्र को किसी भी डाकघर से खरीदा जा सकता है। यह बच्चों के नाम पर भी बड़ों के द्वारा खरीदा जा सकता है।

No comments