Breaking News

दर्दनाक हादसे में शिक्षिका समेत 5 की मौत, 3 बहनों के इकलौते भाई ने भी तोड़ा दम


मकर संक्रांति पर्व पर मंगलवार को हादसों में शिक्षिका समेत पांच जनों की मौत हो गई। हादसे में तीन बहनों के इकलौते भाई ने भी दम तोड़ दिया। दांतारामगढ़ थाना इलाके में सोमवार देर रात्रि हुए दो अलग-अलग सडक़ हादसों में तीन युवकों की मौत हो गई। जांच अधिकारी एएसआई रामचंद्र ने बताया की सोलाया निवासी मुकेश ढाका पुत्र छोटूराम देर रात अपनी जीप लेकर सुरेरा से गांव जा रहा था कि अचानक सुरेरा पेट्रोल पंप के पास सामने मवेशी आ जाने के कारण कैंपर पलट गई और उसकी मौके पर मौत हो गई। ग्रामीणों ने बताया कि मुकेश कुमार इकलौता पुत्र था। तीन बहनों में से मुकेश अकेला भाई था। मुकेश की दो बड़ी और एक छोटी बहन है।

वहीं दूसरी ओर सुनील यादव पुत्र श्रवण यादव व मोहन यादव पुत्र मुकनाराम निवासी अहीर का बास रामगढ़ से गोरिया रोड पर जा रहे थे कि अचानक मवेशी सामने आ जाने के कारण उनकी जीप पलट गई और उनकी भी मौके पर मौत हो गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने तीनों मृतक युवकों के शवों को दांता चिकित्सालय की मोर्चरी में रखवाया जहां सुबह परिजनों के आने पर पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिए गए। पुलिस मामले की जांच कर रही है।


अज्ञात वाहन ने मारी स्कूटी को टक्कर पाटन. निकटवर्ती गांव श्यालोदड़ा के निकट घाटे वाले बालाजी के पास मंगलवार सुबह अज्ञात वाहन की टक्कर से स्कूटी पर सवार अध्यापिका की मौत हो गई। डाबला के चितराला की ढाणी निवासी अध्यापिका विमला यादव मोहनपुरा नई बस्ती के राउप्रावि में कार्यरत थी। सुबह लगभग 9 बजे विमला यादव अपनी स्कूटी पर सवार होकर पाटन में चल रहे निष्ठा प्रशिक्षण शिविर में भाग लेने के लिए आ रही थी। रास्ते में अज्ञात वाहन की टक्कर से विमला की मौत हो गई। रास्ते में स्कूटी गिरी देख कर आने जाने वाले लोगों ने पुलिस को सूचना दी। जिसके बाद शव को कस्बे के राजकीय सामुदायिक अस्पताल लाया गया जहां पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया। अध्यापिका की मौत की खबर सुनकर सीबीईओ शिवनारायण समेत दर्जनों अध्यापक अस्पताल पहुंच गए। हेलमेट लगा होने के बावजूद अध्यापिका की दुर्घटना में मौत हो गई।

No comments