Breaking News

देश के सबसे युवा जज ने कभी नहीं चलाया Facebook, दोस्त उड़ाते थे मजाक


मिलिए मयंक प्रताप सिंह से, जो भारत के सबसे कम उम्र के जज बने हैं, जिन्होंने 21 साल की उम्र में राजस्थान न्यायपालिका सेवा परीक्षा में टॉप करके इतिहास रचा है। न तो वो कभी किसी कोचिंग क्लास के लिए गए और न ही कभी फेसबुक या व्हाट्सएप का इस्तेमाल किया।

मैंने अपने जीवन में कभी फेसबुक अकाउंट नहीं बनाया था। वास्तव में, मैंने अपने परीक्षा समय के दौरान अन्य सभी सोशल मीडिया खातों को निष्क्रिय कर दिया था। मैंने इंटरनेट का उपयोग केवल कानूनी अपडेट प्राप्त करने के लिए और सर्वोच्च न्यायालय या उच्च न्यायालय के कुछ दिलचस्प या महत्वपूर्ण निर्णय पर नज़र रखने के लिए किया।

मेरे कई दोस्तों ने व्हाट्सएप और फेसबुक का उपयोग नहीं करने के लिए मेरा मजाक उड़ाया। हालांकि, समय के साथ, उन्हें इसकी आदत हो गई।

मयंक का कहना है कि वह अपने लक्ष्य पर काफी फोकस्ड थे और इसलिए उन्होंने सामाजिक समारोहों से दूरी बनाए रखी। “मैंने केवल उन समारोहों में भाग लिया जो मेरे लिए महत्वपूर्ण थे।”

न्याय विभाग चुनने का कारण जानने पर उन्होंने कहा, मैंने लोगों को न्यायपालिका पर विश्वास करते देखा है। उन्हें न्याय पाने के लिए इधर-उधर भागते देखा है, इसलिए मैंने इसमें अपना करियर चुना।

No comments