Breaking News

लाखों में बिक रहा है कोरोना से ठीक हुए मरीजों का खून, 1 लीटर की कीमत जानकर उड़ जाएंगे होश


दुनियाभर में कोरोना वायरस ने तांडव मचाया हुआ है। अब तक लाखों की संख्या में लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके है। इतना ही नहीं, मौत का आंकड़ा भी दि-ब-दिन बढ़ता जा रहा है लेकिन इस बीच राहत की खबर भी है। कोरोना वायरस के इलाज के बिना भी डॉक्टर्स मरीजो को ठीक करने में कामयाब हो रही है। कोरोना वायरस से ठीक हो चुके मरीजों के खून से संक्रमित मरीजों को ठीक करने की कोशिश की जा रही है। जिस वजह से अब इन मरीजों का खून लाखों की कीमत में बिक रहा है। जी हां… हैरानी की बात है लेकिन कोरोना वायरस से ठीक हो चुके मरीजों का खून अवैध तरीके से लाखों की कीमत में बिक रहा है और इसे दुनियाभर में भेजा भी जा रहा है।

इसका खुलासा ऑस्ट्रेलियन नेशनल यूनिवर्सिटी की एक रिपोर्ट के जरीए हुआ है। रिपोर्ट के मुताबिक, डार्कनेट पर मौजूद सेलर अलग-अलग देशों से शिपिंग करके विदेशों में डिलीवरी करा रहे है। डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, कोरोना से इम्यून बनाने के दावे के साथ मरीजों का खून लाखों की कीमत में बेचा जा रहा है। इस दौरान एक लीटर खून की कीमत 10 लाख रुपये तक लगाई गई है। इतना ही नहीं, ब्लड के साथ अवैध रूप से पीपीई, मास्क, टेस्ट किट समेत कई सामान भी ऊंचे दाम पर बेचे जा रहे है। दावा तो ये भी किया जा रहा है कि डॉक्टरों के जरीए ही इन सामान को हासिल किया जा रहा है और फिर अलग-अलग देशों में ऊंची कीमत पर बेचा जा रहा है।

प्रमुख रिसर्चर रोड ब्रॉडहर्स्ट ने कहा है कि महामारी के वक्त कुछ लोग आपराधिक तरीके से कमाई की कोशिश कर रहे हैं और कमाई का ये तरीका लोग आने वाले दिनों में बढ़ा सकते है इसलिए ऐसे लोगों को लगाम लगाने की जरूरत है ताकि इसे बंद किया जा सके। बता दें कि दुनिया में इस समय प्लाज्मा थेरेपी के जरीए कोरोना मरीजों को ठीक करने की कोशिश चल रही है। जिसमें कोरोना से ठीक हो चुके मरीजों के खून से प्लाज्मा अलग करके संक्रमित मरीजों का इलाज किया जाता है लेकिन इस थेरेपी से कई तरह के खतरे भी है। जिस पर डॉक्टर अब काम कर रहे है।

No comments