Breaking News

4 मई को 59 साल बाद बनने जा रहा है गुरु और शनि की युति का ये योग यहां जाने कोनसी राशि पर करेगा क्या असर


मकर राशि में मंगल, गुरु और शनि की युति बनी हुई है मंगल के निकलने के बाद गुरु और शनि मकर राशि में रह जाएंगे सिर्फ इन दोनों घरों की मकर राशि में युति 59 साल बाद बनेगी उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पंडित मनीष शर्मा के अनुसार मकर राशि में गुरु शनि की युति 1961 में बनी थी 11 मई की शाम और शनि और 14 मई की रात गुरु ग्रह वक्री हो जाएंगे। 

इसके बाद ही दोनों ग्रह मकर राशि में एक साथ वक्री रहेगी वक्री गुरु 30 जून की रात धनु राशि में प्रवेश करेगा तब तक इन दोनों की वक्री स्थिति देश दुनिया के लिए लाभदायक रहने वाली है इन दोनों शुभ ग्रहो के असर दुनिया भर में फैली महामारी का प्रभाव कम होना शुरू हो जाएगा आर्थिक संकट पर नियंत्रण होने लगेगा।

प्राकृतिक आपदाओं से रक्षा होगी धनु के स्वामित्व की राशि है और मकर शनि के स्वामित्व दोनों अपनी-अपनी राशियों में वक्री रहेंगे 13 सितंबर और 29 सितंबर को शनि मकर में मार्गी होंगे सभी 12 राशियों पर इन ग्रहों का क्या असर होगा यह हम आपको बताते हैं।

मेष ,वृष ,मिथुन ,कर्क, सिंह , तुला ,वृश्चिक, धनु राशि के लोगों के लिए कुंभ राशि का मंगल शुभ स्थिति में रहेगा मंगल के वजह से कार्य में सफलता मिलेगी अटके कामों में गति आएगी घर परिवार में सुखद वातावरण रहेगा कन्या ,मकर, कुंभ ,मीन इन 4 राशियों के लिए मंगल अशुभ स्थिति में रहने वाला है लोगों को कड़ी मेहनत करने की जरूरत पड़ेगी ,आशा के अनुरूप फल नहीं मिलेंगे ,विरोधी से सतर्क रहने की जरूरत है ,क्रोध पर काबू रखें वरना काम बिगड़ सकते हैं।

इस खबर से सबंधित सवालों के लिए कमेंट करके बताये और ऐसी खबरे पढ़ने के लिए हमें फॉलो करना ना भूलें - धन्यवाद

No comments