Breaking News

जनधन खाते में 500 रुपये महीने दे रही सरकार, जानें कैसे खुलता है ये अकाउंट


कोरोना महामारी के बीच गरीबों के लिए जनधन बैंक खाता मददगार साबित हो रहा है. लॉकडाउन के दौरान गरीबों को अपना घर चलाने में आर्थिक परेशानी नहीं हो, इसके लिए केंद्र की मोदी सरकार ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज के तहत महिलाओं के जनधन खातों में 500-500 रुपये की किस्त भेज रही है.

दरअसल, सरकार ने तीन महीने अप्रैल, मई और जून तक 20 करोड़ महिलाओं के खातों में 500-500 रुपये डालने का ऐलान किया है. अप्रैल और मई की किस्त भेजी जा चुकी हैं. देश की 20.05 करोड़ महिला जनधन खाताधारकों के खाते में 500 रुपये की दो किस्तें भेजी जा चुकी हैं.

देश में इस समय 38.57 करोड़ लोगों के पास जनधन अकाउंट हैं. जिसमें से करीब 20.05 करोड़ महिला के नाम पर जनधन खाते हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त 2014 को जनधन योजना की घोषणा की थी, और इसे 28 अगस्त 2014 को लॉन्च किया गया. इसका मकसद सभी परिवार को बैंक सुविधाओं तक पहुंच सुनिश्चित करना था.

जनधन खाते कई मायने में अहम है, सरकार का लक्ष्य है कि हर देशवासी तक बैंकिंग सुविधा का लाभ पहुंचना चाहिए. जनधन खाता खुलवाना बेहद आसान है और अगर अभी तक आपके के पास कोई बैंक खाता नहीं है तो आप जनधन अकाउंट खुलवा सकते हैं.

कोई भी भारतीय नागरिक इस योजना के तहत अकाउंट खुलवाने के लिए आवेदन कर सकता है. आवदेक की उम्र कम से कम 10 साल होनी चाहिए. किसी भी नजदीकी बैंक में जाकर या फिर बैंक मित्र के जरिए जनधन खाता खुलवा सकते हैं.

कुल खातों में 50 फीसदी से अधिक महिलाओं के नाम पर हैं जबकि करीब 59 फीसदी खाते ग्रामीण और अर्द्ध-शहरी क्षेत्र में खोले गए हैं. PMJDY के अंतर्गत खुले खाते पर धारक 6 महीने के बाद 10,000 रुपये तक की राशि लोन के तौर पर भी ले सकते हैं.

जनधन खाते की सबसे बड़ी खासियत यह है कि यह जीरो बैलेंस खाते हैं, यानी मिनिमम बैलेंस का कोई झंझट नहीं है. आम जनता को बैंकों से जोड़ने और उन्हें बीमा और पेंशन जैसी वित्तीय सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए इसकी शुरुआत की गई.

No comments