Breaking News

जून में दो बार लगेगा ग्रहण, 58 साल बाद बन रहा संयोग


ज्योतिष के लिहाज से जून महीना बहुत खास है। कोरोना संकट के बीच एक साथ 2 ग्रहण लगने जा रहे हैं। 5 जून को इस साल का दूसरा चंद्र ग्रहण लगेगा, जबकि 21 जून को इस साल का पहला सूर्य ग्रहण होगा।

एस्ट्रोलॉजी एक विज्ञान पुस्तक के लेखक व ज्योतिष शोधार्थी गुरमीत बेदी के मुताबिक कर्क, तुला व कुंभ राशि वालों के लिए तो यह ग्रहण बहुत शुभ रहने वाला है। कर्क राशि वालों के सुखों में वृद्धि होगी। तुला व कुंभ राशि वालों को धन लाभ होगा। मेष राशि वालों को अपने मान सम्मान के प्रति सजग रहना होगा। वृषभ राशि वालों को किसी समस्या से जूझना पड़ सकता है।

मिथुन राशि वालों को स्त्री पक्ष से चिंता हो सकती है। सिंह राशि वालों को भी उधेड़बुन लगी रहेगी। कन्या राशि वालों को मानसिक क्लेश हो सकता है। वृश्चिक, धनु और मकर राशि वालों को कोई न कोई नुकसान उठाना पड़ सकता है जबकि मीन राशि वालों के सुखों में कमी आएगी। गुरमीत बेदी के मुताबिक करीब 58 साल बाद ऐसा योग बना है, जब शनि ग्रह के मकर राशि में वक्री रहते हुए एक साथ चंद्र ग्रहण या सूर्य ग्रहण लगने जा रहे हैं।

इस बार खास बात यह भी है कि मकर राशि में ही शनि के साथ-साथ देव गुरु बृहस्पति भी वक्री हैं और इन दोनों की मकर राशि में ही वक्री युति में चंद्र व सूर्य ग्रहण लगने जा रहे हैं। हालांकि ज्योतिष शास्त्र में एक ही महीने में 2 ग्रहण शुभ नहीं माना जाता।

No comments