Breaking News

आरोग्य सेतु ऐप पर सरकार ने लिया है बड़ा फ़ैसला, जानिए लॉक डाउन 4.0 में क्या बदला है


आरोग्य सेतु ऐप पर सरकार ने बड़ा फ़ैसला लिया है. अभी तक सरकार की गाइडलाइन्स के अनुसार किसी भी प्राइवेट या सरकारी ऑफ़िस के कर्मचारियों के काम पर लौटने की शर्तों में इस आरोग्य ऐप (Aarogya App) को डाउनलोड करना अनिवार्य था. लेकिन लॉक डाउन 4.0 में इसे वैकल्पिक बना दिया है. यानि यह ऑफ़िस या कर्मचारी पर निर्भर करता है कि वो आरोग्य सेतु ऐप को डाउनलोड करना चाहते हैं या नहीं. आरोग्य सेतु ऐप भारत में कोरोना वायरस के मामलों पर निगरानी रखने के लिए विकसित किया गया था.

गृह मंत्रालय ने लॉक डाउन 4.0 से जुड़ी गाइड लाइन्स मे यह स्पष्ट कर दिया है. सरकार का कहना है की आरोग्य सेतु ऐप एक तरह से सुरक्षा कवच है. इसके ज़रिए समय से कोरोना संक्रमण का पता लगाया जा सकता है और इसे फ़ैलने से रोका जा सकता है.

नए दिशा निर्देशों के अनुसार सभी कंपनियों और कार्यस्थलों पर मालिकों और अफ़सरों को आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करने के लिए कर्मचारियों को बोलना चाहिए. लेकिन इसकी अनिवार्यता को ख़त्म कर दिया गया है. नई गाइडलाइन्स के हिसाब से अब यह ज़िला प्रशासन पर छोड़ दिया गया है कि वो आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करने के लिए सलाह दे.

आरोग्य सेतु ऐप के बारे में आशंका व्यक्त की गई थी कि यह ऐप लोगों की निजता को ख़तरा पैदा करता है.

No comments