Breaking News

पिता से किया वादा नहीं निभा सका देवभूमि का ये वीर सपूत, कहा था “जल्द घर लौटूंगा”


जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के हंदवाड़ा में आतंकी मुठभेड़ में भारतीय सेना के दो अफसर समेत चार जवान और एक जम्मू-कश्मीर पुलिस का जवान शहीद हो गए। इन शहीद जवानों में उत्तराखंड के वीर सपूत ‘लांस नायक दिनेश सिंह'(Lance Naik Dinesh Singh) भी शामिल थे। कश्मीर घाटी के हंदवाड़ा में चली इस मुठभेड़ में भारतीय सेना के जांबाजों ने जवाबी कार्रवाई में दो आतंकियों को ढेर कर दिया।Martyr Lance Naik Dinesh Singh

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, 25 वर्षीय ‘लांस नायक दिनेश सिंह’ उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले के रहने वाले थे। 2015 में सेना में भर्ती हुए दिनेश आखिरी बार दिसंबर में घर लौटे थे। इस मई-जून के महीने में वे अपने परिवार से मिलने घर आने वाले थे। दो दिन पहले ही दिनेश ने अपने पिता से फोन पर बातचीत के दौरान जल्द ही घर लौटने का वादा किया था। लेकिन लांस नायक दिनेश सिंहका ये वादा अधूरा रह गया, वे शनिवार को आतंकियों के साथ मुठभेड़ में वीरगति को प्राप्त हो गए।

शहीद कर्नल आशुतोष शर्मा स्थानीय लोगों के बीच भी बेहद प्रिय थे क्योंकि हर इमरजेंसी में वह तुरंत मदद पहुंचाते थे। वह जंगल ऑपरेशन में एक्सपर्ट थे। (उनके एक साथी आर्मी ऑफिसर ने बताया)


हंदवाड़ा में शहीद लांस नायक दिनेश सिंह 25 साल के थे। Uttarakhand के अल्मोड़ा जिले के रहने वाले लांस नायक ने 2015 में सेना जॉइन की थी

ANI न्यूज़ एजेंसी के अनुसार, भारतीय सेना के अधिकारियों ने बताया कि जम्मू-कश्मीर के हंदवारा में एक मुठभेड़ में भारतीय सेना के चार जवानों की जान चली गई, इसमें कमांडिंग ऑफिसर, 21 राष्ट्रीय राइफल्स यूनिट के मेजर समेत 2 जवान और जम्मू-कश्मीर पुलिस का एक जवान शामिल है। मुठभेड़ में 2 आतंकवादी भी मारे गए हैं।
आतंकियों के साथ चली इस मुठभेड़ में 21 राष्ट्रीय राइफल के कमांडिंग अफसर कर्नल आशुतोष शर्मा भी शहीद हो गए।

No comments