Breaking News

शादीशुदा जोड़े को पहले साल भूलकर भी नहीं करना चाह‌िए यह काम, जानिए !


भारतीय संस्कृति में विवाह को न केवल शारीरिक अथवा सामाजिक संबंध माना जाता है बल्कि आध्यात्मिक साधना का भी रूप माना गया है। आप भी विवाह के बंधन में बंधने वाले हैं तो शादी के दिन से लेकर प्रथम वर्षगांठ तक कुछ ऐसे काम हैं जो भूलकर भी नहीं करने चाह‌िए। ऐसा करने से आपका सारा जीवन प्रेम, सुख, वैभव व शांति से व्यतित होगा। तो आइये जाने……… 

– हनीमून मनाने के लिए कभी भी किसी तीर्थस्‍थल का चयन न करें।

– भगवान श‌िव से संबंध‌ित किसी भी तीर्थस्‍थल पर एक वर्ष तक न जाएं। शास्त्र कहते हैं भोले बाबा वैरागी और मतंग देवता हैं। यदि नवविवाहित श‌िव मंद‌िर जाते हैं और इस दौरान उन्हें माता-पिता बनने का सौभाग्य प्राप्त हो जाता है। ऐसे में उनकी होने वाली संतान वैरागी और दुन‌ियादारी से विमुख हो सकती है। पुरूष श‌िव मंद‌िर जाकर श‌िवल‌िंग के दर्शन, पूजन और अभिषेक कर सकते हैं। महिलाओं को ऐसा नहीं करना चाहिए।

– महिलाओं को देवी पार्वती का पूजन करना चाहिए। इस दौरन उनके प्रिय मंत्रों का भी जाप करना चाहिए। देवी पार्वती को प्रसन्‍न करने का मंत्र ऊँ उमामहेश्वराभ्यां नमः, ऊँ गौरये नमः

– श‌िवल‌िंग का दर्शन दंपत्ति एकसाथ करते हैं तो शादी की पहली वर्षगांठ तक संतान प्राप्त‌ि का व‌िचार न करें।

No comments