Breaking News

अम्‍फान तूफान के कारण सौरव गांगुली के घर में 'हादसा', गिरा भारी भरकम पेड़


नई दिल्‍ली. जहां एक तरफ पूरा देश कोरोना वायरस (Coronavirus) से जूझ रहा है, वहीं अम्‍फान तूफान (Super Cyclone Amphan) ने भी भारत की समस्‍या और बढ़ा दी है. पश्चिम बंगाल में अम्‍फान तूफान का कहर देखने को मिला. इस तूफान ने कई जगहों पर तबाही मचाई. अम्‍फान के कारण बीसीसीआई अध्‍यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) को भी नुकसान हुआ है. दरअसल सौरव गांगुली के घर में पीछे लगा आम का पेड़ इस तूफान में गिर गया. पूर्व भारतीय कप्‍तान ने सोशल मीडिया पर दो तस्‍वीर शेयर करके इसकी जानकारी दी. इसके बाद गांगुली ने इस पेड़ को उठाया. गांगुली ने कहा कि घर में लगे आम के पेड़ को उठाना पड़ा, उसे उन्‍होंने खींचा और ठीक किया. गुरुवार को पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा था कि राज्‍य में अम्‍फान तूफान के कारण 72 लोग मारे गए. तूफान से हजारों लोग बेघर हो गए हैं, कई पुल नष्ट हो गए हैं और निचले इलाके जलमग्न हो गए हैं. कोलकाता (Kolkata) और राज्य के कई अन्य हिस्सों में तबाही के मंजर साफ देखे जा सकते हैं.



गांगुली बने आईसीसी अध्‍यक्षसाउथ अफ्रीका क्रिकेट टीम के डायरेक्टर ग्रेम स्मिथ (Graeme Smith) का मानना है कि अगर कोरोना वायरस के बाद क्रिकेट को दोबारा खड़ा करना है तो आईसीसी अध्यक्ष के पद पर एक अच्छे और दूरदर्शी शख्स का बैठना जरूरी है और इस पद के लिए सौरव गांगुली(Sourav Ganguly) से अच्छा दूसरा कोई और नहीं हो सकता. स्मिथ के अनुसार इस मुश्किल समय में गांगुली ही हैं जो क्रिकेट को दोबारा ऊपर उठा सकते हैं. ये बहुत जरूरी है कि आईसीसी के अध्यक्ष पद पर कोई सही शख्स बैठे. कोरोना वायरस के बाद आईसीसी को एक मजबूत नेता की जरूरत है जो कि आधुनिक खेल के करीब भी हो और उसके अंदर नेतृत्व क्षमता भी हो. ' बता दें आईसीसी के मौजूदा चेयरमैन शशांक मनोहर ने पिछले साल दिंसबर में कह दिया था कि वो आईसीसी के इस पद पर दोबारा नहीं बैठेंगे. उनका कार्यकाल मई के अंत में खत्म हो रहा है.

No comments