Breaking News

हिमाचल: 15 घंटे…42 मामले, ऐसे में होना चाहिए पब्लिक ट्रांसपोर्ट शुरू या नहीं…हर पल खतरे की घंटी


शिमला: वीरवार को 15 घंटे में कोरोना के 42 मामलों ने समूचे प्रदेश को हिलाकर रख दिया। 23 मार्च के बाद आज यह पहला दिन था, जब एक साथ ही इतने मामलों ने विस्फोट कर दिया। शायद, जिस तरीके से हिमाचल कोविड-19 को लेकर चल रहा था, उसमें ऐसी कल्पना ही नहीं की जा सकती थी कि एक दिन में 42 मामले तमाम दावों को धराशायी कर देंगे। गनीमत इस बात की है कि तमाम लोग क्वारंटाइन सैंटर में ही थे। लेकिन क्या गारंटी है कि पब्लिक ट्रांसपोर्ट शुरू होने के बाद अनजाने में ही सही, पॉजिटिव आए लोगों के कॉन्टैक्ट में आने वाले सफर नहीं करेंगे। इधर से उधर जाना भी लोगों की मजबूरी भी है।

हमीरपुर में प्रशासन के उड़ी हुई है नींद रात 9:30 बजे के आसपास हमीरपुर का आंकड़ा बढ़कर 31 तक पहुंच गया। वीरवार को एक राहत की खबर यह थी कि 4 व्यक्तियों ने कोरोना की जंग जीत ली। शाम 5:00 बजे तक ठीक होने वालों की संख्या 51 थी, जो रात 9:30 बजे बढ़कर 55 हो गई। इसके अलावा प्रदेश में एक्टिव मामलों की संख्या 90 है।

सवाल इस बात पर भी उठता है कि क्या पब्लिक ट्रांसपोर्ट को शुरू करने के लिए राज्य सरकार फुल प्रूफ प्लान बना पाएगी या नहीं। हालांकि इसमें भी कोई दो राय नहीं है कि अब अपनी सुरक्षा के मद्देनजर पब्लिक भी अनावश्यक ही घरों से निकलना नहीं चाहती। चंबा का उदाहरण भी नजर अंदाज नहीं किया जा सकता, जिसमें एक शख्स ने न केवल अपनी दो साल की बच्ची को संक्रमित कर दिया, बल्कि बच्ची की माँ भी संक्रमित हो चुकी है। यही नहीं, शख्स के दोस्त भी पॉजिटिव हैं। निश्चित तौर पर जीवन को धीरे-धीरे पटरी पर आना ही होगा। लेकिन अपने स्तर पर चूक भी नहीं होनी चाहिए।

दीगर है कि मंत्रिमंडल की उप समिति द्वारा पब्लिक ट्रांसपोर्ट को शुरू करने का अनुमोदन किया गया है। इस पर मंत्रिमंडल ने बैठक में जल्द ही फैसला लेना है। हमीरपुर, कांगड़ा व बद्दी क्षेत्र में संवेदनशीलता बढ़ती जा रही है। बहरहाल, पब्लिक को भी यह तय करना है कि ऐसे समय में पब्लिक ट्रांसपोर्ट शुरू की जाए या नहीं। बताते चलें कि मंत्रिमंडल की उप समिति की सिफारिश के बाद ही सरकार ने आयकर दाताओं की राशन सब्सिडी में एक साल का कट लगाया है। शुक्रवार को आने वाली हमीरपुर व कांगड़ा की रिपोर्ट्स ने भी प्रशासन के साथ-साथ विभाग की धड़कन तेज की हुई है। हमीरपुर की हालत तो आज ऐसी हो गई थी कि वहां के अधिकारियों ने शायद समय पर खाना भी नहीं खाया होगा। दीगर है की 42 मामले सुबह 7 से रात 10 बजे तक आए है। स्वास्थ्य विभाग के सचिव निपुण जिंदल ने वीरवार को 42 मामले आने की पुष्टि की है। प्रदेश में 5 मई के आसपास एक्टिव केस की संख्या मात्र 2 थी, इसमें सिरमौर व मंडी का एक एक शख्स था। महज 16 ही दिनों में एक्टिव मामलो का आंकड़ा 90 है। इसमें 42 मामले आज के है।

No comments