Breaking News

महाराष्ट्र में कोरोना से पिछले 24 घंटों में 85 की मौत,22 पुलिसकर्मी भी शामिल


मुंबई, - महाराष्ट्र में कोरोना वायरस से गुरुवार को पिछले 24 घंटों में 85 लोगों की मौत के साथ ही राज्य में मरने वालों की संख्या बढ़कर 1982 हो गयी।

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश तोपे ने बताया कि 2598 नए मामले सामने आने के साथ ही कोरोना के कुल संक्रमितों की संख्या 56546 पहुंच गयी है।

85 मृतकों में 60 पुरुष और 25 महिलाएं शामिल हैं। मुंबई में सर्वाधिक 38 लोगों की मौत हुई है जबकि पुणे में 10, सतारा में नौ, अकोला में पांचस वसई विरार और ठाणे से चार-चार, नवी मुंबई से दो और औरंगाबाद, जलगांव, नांदेड़ और रायगड़ एक-एक लोगों की मौत हुई है।

वैश्विक महामारी कोविड-19 की चुनौती से निपटने और लोगों को सजग करने में जुटे महाराष्ट्र पुलिस के कोरोना योद्धा स्वयं बड़ी संख्या में इस वायरस की गिरफ्त में आ रहे हैं और पिछले 24 घटों के दौरान बल के 131 कर्मी इसकी चपेट में आ गए जिससे संक्रमितों की संख्या दो हजार को पार कर गई । इस दौरान दो और कर्मियों की मौत से 22 की जान वायरस ले चुका है।

महाराष्ट्र पुलिस की तरफ से गुरुवार को दी गई जानकारी के अनुसार बल के कुल 2095 कर्मी कोरोना की चपेट में आ चुके हैं और 22 की मृत्यु हो चुकी है।

संक्रमण प्रभावित में बल के कुल कर्मियों में 236 अधिकारी और 1896 पुरुष पुलिसकर्मी हैं।

बल के कोरोना से 22 मृतकों में एक अधिकारी और 22 पुरुष कर्मी हैं।

राज्य में वर्तमान में बल के 1178 मामले सक्रिय हैं जिसमें 160 अधिकारी और 1018 पुरुष कर्मी हैं। कोरोना से बल के 897 कर्मी ठीक हो चुके हैं जिसमें 75 अधिकारी और 822 सिपाही हैं।

नासिक जिले में कोरोना वायरस (कोविड 19) से और 48 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि के बाद यहां कुल संक्रमितों की संख्या 1058 हो गयी।

जिला प्रशासन के अधिकारियों ने बताया कि बुधवार को 204 संदिग्ध मामलों की जांच रिपोर्ट मिली, जिनमें 199 रिपोर्ट निगेटिव रही जबकि 48 मामलों में संक्रमण की पुष्टि हुई।

मालेगांव में गत दो दिन से कोरोना संक्रमण का एक भी नया मामला सामने आया लेकिन पिछले 24 घंटे में अचानक 17 मामलों का पता चला। इनमें छह पुलिसकर्मी भी शामिल हैं।

उन्होंने बताया कि जिले में अब तक 1058 लोग कोरोना वायरस की चपेट में आये हैं , जिनमें 138 नासिक शहर, 157 ग्रामीण इलाकों , 715 मालेगांव और 48 जिले के बाहर से हैं। इसके अलावा अब तक 60 लोगों की इस बीमारी से मौत हो चुकी है जबकि 739 लोग ठीक हो चुके हैं , जिन्हें अस्पतालों से छुट्टी दी जा चुकी है। फिलहाल जिले में 259 मामले सक्रिय हैं।

बीड़ शहर और उसके आस पास के कुछ गांव में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मद्देनजर जिलाधिकारी राहुल रेखवार ने इन सभी संबंधित क्षेत्रों में गुरुवार से अगले आठ दिन के लिए पूर्ण कर्फ्यू लगा कर दिया। यह बीड शहर के साथ-साथ आसपास के 12 गांवों में कर्फ्यू लागू रहेगा।

जिला स्वास्थ्य अधिकारी के अनुसार पटोदा तालुका के कोरेगाँव के जिन संक्रमित रोगियों में कोरोना वायरस पाया गया वे बीड शहर में और कुछ ग्रामीण क्षेत्रों में बड़ी संख्या में लोगों के साथ संपर्क में आने से संंक्रमित हुए थे।

इसके अलावा जिले में अन्य स्थानों पर बीड के पूरे शहर में, बीड तालुका, खंडाला, चरहटा, पलवन, ईट गांव, वैजला और डोंगरकिनी में, पटोदा तालुका में देवड़ी, वाडवानी तालुका, खांडवी, गेवराई तालुका, मदालमोही और धारवंता, काइज तालुका में खरमाटा और धार तालुका में परगाँव में कर्फ्यू लगाया गया है।

आज से आठ दिनों के लिए अर्थात चारत जून को रात 12 बजे तक लोगों को अपने घरों से बाहर आने की मनाही है।

इस दौरान चिकित्सा सेवाएं, समाचार पत्र और मीडिया सेवाएं 24 घंटे उपलब्ध होंगी, किसी को भी बिना विशेष अनुमति के इस अवधि के दौरान बीड शहर में प्रवेश करने या छोड़ने की अनुमति नहीं होगी, बीड शहर में सभी प्रतिष्ठान (सरकारी, निजी और बैंक) आवश्यक सेवाओं (राजस्व, ग्रामीण विकास और स्वास्थ्य) के लिए सरकारी कार्यालयों को छोड़कर अन्य सभी को बंद कर दिया गया है ।

No comments