Breaking News

कक्षा 8 के छात्र ने डॉन बनकर प्रधानाचार्य से मांगे 5 लाख रुपए


मैनपुरी जिले में एक ऐसा मामला सामने आया जिसे सुनकर आप भी हैरान रह जाएंगे कि ऐसा दिमाग छोटे बच्चों का होता है। दरअसल, अपने ही प्रिंसिपल से पांच लाख रुपये की जबरन वसूली की मांग करने का मामला आठवीं कक्षा के छात्र के रूप में सामने आया है। पुलिस के मुताबिक, 13 साल के इस छात्र ने अपने शौक को पूरा करने के लिए ये कदम उठाया है। यही नहीं, 24 घंटे के भीतर मांग पूरी न होने पर छात्र को परिवार को जान से मारने की धमकी भी दी गई थी, पुलिस ने छात्र को गिरफ्तार कर लिया है।

दरअसल, पूरा मामला थाना बरनाला क्षेत्र के श्री वर्णी इंटर कॉलेज का है, जहाँ प्रधानाचार्य बृजकिशोर को एक अज्ञात व्यक्ति ने 5 लाख रुपये की उगाही के लिए बुलाया और पैसे न देने पर पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी दी। प्रिंसिपल ने धमकी भरी कॉल आने के तुरंत बाद पुलिस को बताया। पुलिस ने अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ एनसीआर दर्ज की और उस फोन को कॉल पर रख दिया जिससे वह निगरानी में था।

फोन नंबर की जानकारी मिलते ही पुलिस ने फोन करने वाले को पकड़ लिया, लेकिन पुलिस हैरान रह गई, क्योंकि कोई और नहीं बल्कि आठवीं कक्षा का छात्र बता रहा था। फोन करने वाला 13 वर्षीय छात्र है जो कक्षा आठ में पढ़ता है। जब पुलिस ने पूछताछ की, तो वह लड़का पुलिस को गुमराह करता रहा। पुलिस ने नाबालिग लड़के को किशोर न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे आगरा में किशोर पुनर्वास केंद्र भेज दिया गया।

स्टेशन हेड सुरेश चंद्र शर्मा के अनुसार, छात्र एक पेशेवर अपराधी की तरह हेडमास्टर को फोन करके जबरन वसूली की मांग कर रहा था और हेडमास्टर के कामकाज की निगरानी कर रहा था। आरोपी छात्र को गिरफ्तार कर लिया गया है। पकड़ा गया छात्र एक अमीर परिवार से है। वह तीन भाइयों में सबसे बड़ा है और घोर के निजी स्कूल में कक्षा आठ का छात्र है। दोनों परिवार एक ही इलाके में रहते हैं, इसलिए आरोपी और प्रमुख परिवारों के बीच संबंध भी अच्छे हैं।

No comments