Breaking News

बचना है अनचाहे गर्भ से, तो गर्भनिरोधक गोली की जगह खाएं ये एक चीज


गर्भनिरोध को जन्म नियंत्रण और प्रजनन क्षमता नियंत्रण के नाम से भी जाना है ये गर्भधारण को रोकने के लिए विधियां या उपकरण हैं। जन्म नियंत्रण की योजना, प्रावधान और उपयोग को परिवार नियोजन कहा जाता है। सुरक्षित यौन संबंध, जैसे पुरुष या महिला निरोध का उपयोग भीयौन संचरित संक्रमण को रोकने में भी मदद कर सकता है।

दोस्तों, कई बार आप गर्भधारण से बचना तो चाहती हैं पर गर्भनिरोधक का इस्तेमाल नही करना चाहती हैं, क्योंकि गर्भनिरोधक के कई साइड इफेक्ट्स भी होते हैं, इसीलिए आज हम आपको एक ऐसी चीज के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसके इस्तेमाल से आप प्रेग्नेंट होने से बच सकती हैं, तो चलिए जान लेते हैं

अरंडी का करें इस्तेमाल
आयुर्वेद के अनुसार अरंडी यानी कैस्टर के बीज में गर्भनिरोध के गुण होते हैं, जिससे अरंडी को सबसे बढ़िया गर्भनिरोधक तत्व माना गया है, इसका इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले अरंडी के बीज को फोड़ें, उसके बाद उसमें मौजूद सफेद बीज को निकालें, इस बीज को एक गिलास पानी के साथ खा लें।

कब करें इस्तेमाल
इसका प्रयोग आप आई पिल की तरह कर सकती हैं, अरंडी के बीज का इस्तेमाल आप संबंध बनाने के 72 घंटे के अंदर गर्भनिरोधक गोलियों के रूप में कर सकती हैं, अगर महिलाएं सम्बन्ध बनाने के 72 घंटे के भीतर इस बीज का सेवन करती हैं तो यह एक कॉन्ट्रासेप्टिव पिल की तरह ही गर्भधारण रोक सकता है।

अगर कोई महिला इस बीज का सेवन पीरियड्स के तीन दिनों तक करें तो एक महीने तक इसका प्रभाव रहता है, वैसे तो अरंडी के बीज के इस्तेमाल का कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है, फिर भी इसे यूज करने से पहले आप किसी आयुर्वेदिक विशेषज्ञों से एक बार सलाह जरूर लें।

No comments