Breaking News

प्रेमिका के बुलावे पर कई छतें फांदते हुए मिलने पहुंचा प्रेमी, लेकिन मिली खौफनाक सजा, गुप्तांगों को कर दिया चोट


पंजाब. प्रेमिका के बार-बार कॉल करने के बाद आधी रात छत फांदकर उसके घर मिलने पहुंचे 21 वर्ष के प्रेमी को यह नहीं मालूम था कि यह मुलाकात उसकी जिंदगी की आखिरी होगी। प्यार में दर्दनाक मौत देने की यह घटना मोगा जिले के धल्लेके गांव की है। लड़की के परिजनों ने प्रेमी को पकड़कर बेरहमी से पीटा। उसक गुप्तांगों को चोटिल किया गया। रातभर उसे कमरे में बंद करके रखा। उसे पानी तक पीने के नहीं दिया गया। सुबह गांववाले जब इकट़्ठा होकर पहुंचे, तब जाकर उसे छोड़ा। लेकिन लड़के को बचाया नहीं जा सका। इस घटना के बाद प्रेमिका और उसका परिवार गायब है।

शाम से देर रात तक प्रेमिका ने किए थे 5 कॉल
पुलिस की जांच में सामने आया है कि मंगलवार शाम से लेकर देर रात तक प्रेमिका ने प्रेमी को 5 कॉल किए थे। पहला कॉल उसने शाम 7.30 बजे किया था। वहीं 4 कॉल रात 12 से 1 बजे के बीच की गई थीं। माना जा रहा है कि इसके बाद प्रेमी उससे मिलने पहुंचा होगा। वहां, लड़की के परिजनों ने दोनों को एक साथ देख लिया और प्रेमी को पकड़कर पीटा। लड़के की चाची का आरोप है कि मरने से पहले युवक ने बताया कि उसे उमस से भरे कमरे में बंद करके रखा गया। उसे पानी तक पीने को नहीं दिया गया। युवका का सिविल अस्पताल में पोस्टमार्टम कराया गया। सदर थाने के प्रभारी कर्मजीत सिंह ने बताया कि लड़के के मुंह, टांग, सिर, गुप्तांग आदि पर गहरी चोटों के निशान मिले हैं। डीएसपी बलजिंदर सिंह भुल्लर ने कहा कि मृतक के पिता नैब सिंह की शिकायत पर लड़की, उसके माता-पिता, भाई और तीन चचेरे भाइयों के खिलाफ हत्या सहित विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया गया है।

6 महीने पहले शुरू हुई थी यह प्रेम कहानी...
मृतक की मां मंजीत कौर ने बताया कि उसके दो बेटे और तीन बेटियां हैं। इनमें से एक बेटी की मौत टीबी से हो गई थी। इंद्रजीत उनका छोटा बेटा था। वो टाइल्स लगाने का काम करता था। 

फसल के वक्त खेतों में काम करता था। इस समय धान रोपाई के काम में बिजी था। कहा जा रहा है कि करीब 6 महीने पहले उसका पड़ोस में रहने वाली लड़की से प्रेम संबंध हुआ। मंगलवार रात करीब 8 बजे इंद्रजीत खाना खाने के बाद छत पर सोने चला गया। बुधवार सुबह करीब 5 बजे जब इंद्रजीत छत पर नहीं दिखा, तो उन्हें शंका हुई। ये लोग लड़की के घर पहुंचे, लेकिन किसी को अंदर नहीं घुसने दिया। बाद में गांव के कुछ लोगों को लेकर ये लोग फिर लड़की के घर पहुंचे। तब इंद्रजीत को छोड़ा गया। लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका। घटना के बाद से लड़की के परिजन गायब हैं।

No comments