Breaking News

प्रदेश की ओर तेजी से आगे बढ़ रहा मानसून, करेगा धमाकेदार एंट्री


मध्यप्रदेश के पड़ोसी राज्य छत्तीसगढ़ तक मानसून पहुंच गया है, तीन दिनों में यह मध्यप्रदेश में प्रवेश करने वाला है। इस बार यह मध्यप्रदेश के दक्षिण-पूर्वी हिस्से से प्रवेश कर रहा है। मौसम विशेषज्ञों के मुताबिक आने वाले 24 घंटों के दौरान भारी बारिश, तेज हवाएं और आकाशीय बिजली गिरने की भी संभावना है।

मध्य प्रदेश में पहले से ही प्री मॉनसून गतिविधियां चल रही है। इस बीच मौसम विभाग ने बताया है कि छत्तीसगढ़ में मानसून पहुंच गया है, अब मध्यप्रदेश के यह दक्षिण-पूर्वी हिस्से से प्रवेश करने वाला है। फिलहाल जो सिस्टम बन रहा है, उसके मुताबिक अगले तीन दिनों में मध्यप्रदेश में मानसून का प्रवेश हो जाएगा। इस दौरान कई जिलों में भारी बारिश की संभावना है।

मानसून के पहले ही भारी बारिश
मध्यप्रदेश में प्रीमानसूनी गतिविधियों के कारण कहीं बारिश तो कहीं बिजली चमकने की स्थिति बन रही है। मध्यप्रदेश में मानसून के पहुंचने की तय तारीख 15 जून मानी जाती है। पहले इसके पांच दिन देरी से आने का पूर्वानुमान लगाया गया था, लेकिन वर्तमान में बन रहे सिस्टम के कारण यह तयसमय पर प्रवेश कर जाएगा। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि 15 जून की रात तक यह प्रदेश में प्रवेश करेगा। यानी 16 जून की सुबह तक यह जबलपुर संभाग में पहुंच चुका होगा।

पहले ही पूरा हो जाएगा कोटा
मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक इस साल मानसून पूर्व गतिविधियां चलने से पहले से ही बारिश हो रही है, जबकि हाल ही में आए निसर्ग तूफान के कारण भी बारिश का दौर कुछ दिनों तक चलता रहा। पहले से भी जारी बारिश के कारण कई जलाशय भर गए हैं। एक अनुमान के मुताबिक आधे जलाशय तो पहले से ही भर गए हैं। फसलों को भी बारिश का लाभ मिल रहा है। इस बार मध्य प्रदेश में मॉनसून अच्छे की संभावना जताई गई है। इस बार मध्य प्रदेश में 104 फीसदी ज्यादा बारिश का अनुमान है।

वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक शैलेंद्र नायक के मुताबिक यदि सबकुछ ठीक रहा तो मानसून 19 जून तक पूरे राज्य में छा जाएगा। हालांकि सिस्टम बदलने से मानसून लेट भी हो सकता है या दूसरे राज्यों का रुख कर सकता है। इससे कुछ दिन पहले इसके 5 दिन विलंब से आने का अनुमान लगाया गया था।

No comments