Breaking News

Good News: हिमाचल में आज से दौड़ेंगी HRTC बसें, मंडी डिवीजन में चलेंगी 427 बसें


मंडी. हिमाचल प्रदेश सरकार के आदेशों के अनुरूप जन सुविधा के लिए पहली जून से बसें चलेंगी. सूबे में 12 जिलों में 70 दिन बाद बस सेवा दोबारा शुरू होगी. हालांकि, इस दौरान राज्य से बाहर बसें नहीं जाएंगी. सुबह सात बजे से शाम सात बजे तक बसें चलेंगी. इस दौरान साठ फीसदी ही सवारियां बसों में बैठ सकेंगी.

मंडी में यह रहेगा प्रावधान मंडी डिवीजन में सार्वजनिक परिवहन सेवा बहाल की जा रही है. यह जानकारी उन्होंने फोन के माध्यम से सांझा की. हिमाचल पथ परिवहन निगम मंडल प्रबन्धक, मंडी डिवीजन, अमर नाथ सलारिया ने बताया कि 1 जून से जिला मंडी, कुल्लू और लाहौल स्पति की सड़कों पर लोगों की सुविधा के लिए निगम की 427 बसें चलेंगी. उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस (कोविड-19) संक्रमण से बचाव के लिए सरकार ने बस यात्रियों, बस चालकों व परिचालकों तथा बस प्रबंधकों को आवश्यक दिशा निर्देश जारी किए हैं.

बसों के अंदर ऐसे रहेंगे इंतजाम.


नियमों का कड़ाई से पालन अमर नाथ सलारिया ने बताया कि सरकारी आदेशों के तहत सुबह 7 बजे से शाम 7 बजे तक ही बसों का संचालन किया जाएगा. कोरोना महामारी के बीच बस संचालन को लेकर सरकार द्वारा जारी सभी हिदायतों का कड़ाई से पालन किया जाएगा. बसों को सेनेटाइज कर दिया गया है तथा चालकों व परिचालकों को सभी जरूरी हिदायतें दे दी गई हैं. बस में केवल 60 प्रतिशत सवारियों को ही बैठने की इजाजत होगी. बस में प्रयोग न की जाने वाली सीटों पर ‘नॉट टू बी यूज्ड’ का स्टीकर लगा होगा. इसके अलावा बस में सभी दिशा निर्देशों वाले स्टीकर भी लगाए गए हैं.

कुछ यूं दिखेगा बसों के अदंर का हाल.

हर दो घंटे बाद सेनेटाइज होंगी बसें
बस में यात्रा के दौरान बार-बार सम्पर्क में आने वाली जगहों के अलावा बस अड्डे पर टिकट काउंटर, बैंच, शौचालयों को भी हर दो घंटे के अंतराल पर सैनिटाइज किया जाएगा. बस स्टैंड में केवल यात्रा करने वाले लोगों को ही प्रवेश करने दिया जाएगा और यात्रा करने से पूर्व एंट्री पर उनका स्वास्थ्य परीक्षण होगा. वहीं आरटीओ मंडी संजीत सिंह ने सभी लोगों से बस से यात्रा करते हुए जरूरी सावधानियां बरतने की अपील की है. उन्होंने कहा कि बिना मास्क किसी भी सवारी को बस में बैठने की मनाही रहेगी.

बस कंडक्टर और ड्राइवर.

बस में निर्धारित सीटों पर ही सवारियों को बैठने की इजाजत होगी, जबकि खड़े होकर यात्रा करने की मनाही रहेगी. इसके अलावा, केवल निर्धारित बस स्टॉप से ही यात्रियों को बस में बिठाया व उतारा जाएगा. कंटेनमेंट जोन में बसों को खड़ा नहीं किया जाएगा तथा न ही यात्रियों को उतारा और बिठाया जाएगा.

No comments