Breaking News

एक ऐसी मूछों वाली राजकुमारी, जिसके खातिर 13 नौजवानों ने गंवाई थी अपनी जान


प्यार या प्रेम एक एहसास है। जो दिमाग से नहीं दिल से होता है प्यार अनेक भावनाओं जिनमें अलग अलग विचारो का समावेश होता है!,प्रेम स्नेह से लेकर खुशी की ओर धीरे धीरे अग्रसर करता है। ये एक मज़बूत आकर्षण और निजी जुड़ाव की भावना जो सब भूलकर उसके साथ जाने को प्रेरित करती है। ये किसी की दया, भावना और स्नेह प्रस्तुत करने का तरीका भी माना जा सकता है। जिसके उदाहरण के लिए माता और पिता होते है खुद के प्रति, या किसी जानवर के प्रति, या किसी इन्सान के प्रति स्नेहपूर्वक कार्य करने या जताने को प्यार कहा जाता हैं।

आज के समय में किसी लड़की की खूबसूरती, उसके शक्ल, शरीर की बनावट और चेहरे पर निर्भर करता है। वैसे एक कहावत बड़ी मशहूर है कि सुंदरता देखने वाले की आंखों में होती है। लेकिन हर जगह खूबसूरती के पैमाने भी अलग-अलग होते हैं। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि 19वीं सदी में मोटापे को ही खूबसूरत समझा जाता था। उस सदी की ईरान की राजकुमारी की सुंदरता के किस्से आज भी याद किए जाते हैं।
ईरान की राजकुमारी ताज अल कजर सुल्ताना ने सुंदरता के सभी मानकों को तोड़ दिया था। उनके चेहरे पर मूंछे और घनी भौहें थी। इसके साथ ही वो काफी मोटी भी थी। भले ही आपको ये सब जानकर थोड़ा आश्चर्य हो रहा होगा लेकिन इसके बावजूद भी उन्हें काफी सुंदर माना जाता था।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, उस समय के ज्यादातर नौजवान, राजकुमारी के सुंदरता के कायल थे और उनसे शादी करना चाहते थे। हालांकि, राजकुमारी कजर ने सबके प्रस्तावों को ठुकरा दिया था। कहा ये भी जाता है कि राजकुमारी के इस बात से आहत होकर 13 नौजवानों ने खुदकुशी कर ली थी।

दरअसल, इन प्रस्तावों को ठुकराने की पीछे वजह ये भी थी की राजकुमारी की शादी पहले ही अमीर हुसैन खान शोजा ए सल्तनेह से हो चुकी थी। इस शादी से उन्हें दो बेटियां और दो बेटे थे। हालांकि, बाद में उनका तलाक हो गया।

दावा ये भी किया जाता है कि राजकुमारी के कई अफेयर भी रहे थे। इनमें दो लोग सबसे प्रमुख थे, गुलाम अली खान अजीजी अल सुल्तान और ईरानी कवि आरिफ काजविनी। कहा ये भी जाता है कि राजकुमारी उस दौर की आधुनिक महिलाओं में से एक थी। वो पश्चिमी सभ्यता से काफी प्रेरित थी और वेस्टर्न कपड़े पहनती थीं। राजकुमारी कजर हिजाब उतारने वाली उस दौर की पहली महिला मानी जाती हैं।

No comments