Breaking News

ये 5 खास बातें हनुमान ने महाभारत में भीम को दर्शन देकर बताई थी


हनुमान्, आंजनेय और मारुति भी) परमेश्वर की भक्ति (हिंदू धर्म में भगवान की भक्ति) की सबसे लोकप्रिय अवधारणाओं और भारतीय महाकाव्य रामायण में सबसे महत्वपूर्ण व्यक्तियों में प्रधान हैं। वह कुछ विचारों के अनुसार भगवान शिवजी के 11वें रुद्रावतार, सबसे बलवान और बुद्धिमान माने जाते हैं।

दोस्तों महाभारत में जब पांडव अज्ञातवास पर थे। तब उस समय भीम को हनुमान जी की दर्शन जंगल में हुए थे ।दोस्तों आज हम आपको बताने वाले हैं। कि हनुमान जी ने भीम को दर्शन देकर बताई थी। ये 5 बातें तो आइए जानते हैं इनके बारे में।

बातें जो हनुमान ने भीम को बताई

1. कलयुग में नाम जपने से होगा बेड़ा पार 
हनुमान जी ने भीम को सबसे पहले सतयुग की बातें बताई थीं. सतयुग में मूर्ति पूजा करने से भी लोगों को मोक्ष की प्राप्ति हो जाती थी लेकिन आने वाला समय कलयुग होगा और इस युग में मूर्ति पूजा से मोक्ष प्राप्त नहीं होगा. कलयुग में जो व्यक्ति सच्चा नाम जाप करेगा, उसी को मोक्ष प्राप्त होगा.

2. भगवान राम की महिमा 
भीम, हनुमान जी से उत्सुकता पूर्वक फिर भगवान राम की महिमा का गुणगान करने को कहते हैं. तब हनुमान बताते हैं कि राम का नाम किसी का भी बेड़ा पार कर सकता है. व्यक्ति किसी भी तरह की मुसीबत में क्यों ना हो बस बस सच्चे दिल से राम नाम पुकारता है तो यही राम नाम उसकी मदद जरुर करता है.

3. कलयुग का सबसे बड़ा पाप कई जगह हनुमान और भीम की मुलाकात को विस्तार से बताया गया है. उसी जगह ऐसा भी जिक्र है कि भीम ने कलयुग का सबसे बड़ा पाप क्या होगा, ऐसा हनुमान जी से पूछा था. तब हनुमान जी बताते हैं कि किसी भी निंदा और चुगली करने में कलयुग के लोगों को बहुत अच्छा लगा करेगा. लेकिन किसी की निंदा और चुगली करना कलयुग का सबसे बड़ा पाप होगा. निंदा उसी तरह से होगी जैसे आप किसी की हत्या करते हो.

4. संसार में रहते हुए कैसे ईश्वर की प्राप्ति की जाए इस सवाल का जवाब हनुमान जी देते हैं कि हर व्यक्ति को कर्म जरुर करने चाहिए. यदि संसार के बंधनों में आप फंस गये हैं तो उनको पूरा भी आपको करना है. लेकिन साथ ही साथ आपको दिन के कुछ घंटे भगवान राम की याद में लगाने ही होंगे. यदि आप ऐसा करेंगे तो आपको ईश्वर की प्राप्ति जरुर होगी.

5. इन्द्रियों को कैसे करें वश में भीम जानते थे कि इन्सान की इन्द्रिया उसके वश में नहीं रहती हैं. तब हनुमान जी बताते हैं कि ईश्वर की सेवा करने और भलाई-अच्छाई के कामों से ही इन्द्रियों को काबू किया जा सकता है. यदि आप ईश्वर को अपने दिल में आने ही नहीं देंगे तो उस खाली घर में बुरी आत्मायें निवास करने लगेंगी. इसलिए ईश्वर को जरुर याद करो.

No comments