Breaking News

कोवैक्सीन का ट्रायल शुरू, महिला समेत तीन लोगों को दिया गया टीका


देश में बने कोविड-19 महामारी के टीके 'कोवैक्सीन' का मानव परीक्षण नागपुर में शुरू हो गया है. राज्य में महामारी के टीके का यह पहला ट्रायल है. गिल्लुरकर मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल में 25 व 31 वर्षीय पुरुष और 53 वर्षीय महिला को आज सुबह टीका लगाया गया. पहले दिन कोई भी दुष्परिणाम सामने नहीं आए हैं. अगले 14 दिनों तक उन्हें निगरानी में रखा जाएगा, ताकि टीके के प्रभाव का पता लगाया जा सके. इस दौरान यह भी देखा जाएगा कि उनमें महामारी के लक्षण या अन्य किसी तरह की तकलीफ तो नहीं होती है. सब कुछ सामान्य होने पर टीके का दूसरा डोज दिया जाएगा.

देश में यह दूसरे चरण का ट्रायल है, जिसमें नागपुर के डॉ. चंद्रशेखर गिल्लूरकर के अस्पताल समेत चार संस्थाएं शामिल हैं. गिल्लुरकर हॉस्पिटल में परीक्षण के लिए 50 से अधिक 'वैक्सीन वॉरियर' खुद सामने आए हैं. पिछले सप्ताह सभी की जांच के लिए रक्त के नमूने मुंबई की प्रयोगशाला भेजे गए. इनमें से 8 व्यक्तियों के नमूने सामान्य पाए जाने से इनमें 3 को सोमवार को बीपी एवं अन्य स्वास्थ्य जांच के बाद टीका लगाया गया. शाम तक निगरानी के बाद उन्हें घर भेज दिया गया. अगले 14 दिन अस्पताल की टीम उनकी लगातार निगरानी करेगी.

इस परियोजना में भारत बायोटेक, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरॉलॉजी (एनआईवी) और इंडियन कौंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) शामिल हैं. परीक्षण को भारतीय औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) ने अनुमति दी है. देश में 12 केंद्रों में ट्रायल टीके के मानव परीक्षण के पहले चरण में एम्स दिल्ली, एम्स पटना, निजामुद्दीन इंस्टीट्यूट हैदराबाद और पीजीआई रोहतक शमिल थे.

24 जुलाई को दिल्ली के एम्स में 30 वर्षीय व्यक्ति को यह टीका लगाकर मानव परीक्षण की शुरुआत की गई. अब तक लगभग 50 लोगों को कोवैक्सीन का पहला डोज दिया गया है. गिल्लुरकर मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल के संचालक डॉ. चंद्रशेखर ने कहा है कि मंगलवार पुन: पांच का परीक्षण 18 से 55 वर्ष तक की आयु के निरोगी व्यक्तियों का इस परीक्षण के लिए चयन किया गया है. मंगलवार को पुन: पांच व्यक्तियों का मानव परीक्षण किया जाएगा. इसके बाद रक्त परीक्षण की रपट के उपलब्ध होने के साथ-साथ संबंधितों को बुलाकर टीका लगाया जाएगा. हमने 50 व्यक्तियों को टीका लगाने की तैयारी की है. कोरोना को हराने के लिए मानव परीक्षण करने के इच्छुक लोग अस्पताल के साथ संपर्क कर सकते हैं

No comments